वित्त मंत्री के खिलाफ याचिका खारिज, वकील पर लगा इतने हजार का जुर्माना

नई दिल्ली।उच्चतम न्यायालय ने भारतीय रिजर्व बैंक के कैपिटल रिजर्व के संबंध में वित्त मंत्री अरुण जेटली के खिलाफ आरोप लगाने वाली एक जनहित याचिका को शुक्रवार को खारिज कर दिया। उच्चतम न्यायालय ने अरुण जेटली के खिलाफ जनहित याचिका दाखिल करने वाले वकील पर 50 हजार रुपये का जुर्माना लगाया है।

ये भी पढ़ें :-पश्चिम बंगाल में अमित शाह को झटका,’रथ यात्रा’ को हाईकोर्ट से नहीं मिली अनुमति 

प्रधान न्यायाधीश रंजन गोगोई और न्यायमूर्ति एस के कौल की पीठ ने कहा, हमें इस पीआईएल पर विचार करने की जरा भी वजह नजर नहीं आती।

ये भी पढ़ें :-अचानक मंच पर बेहोश होकर गिर पड़े केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी 

जानकारी के मुताबिक शर्मा ने वित्त मंत्री जेटली पर आरबीआई के कैपिटल रिजर्व में लूटपाट का आरोप लगाया था। बता दें कि वकील मनोहर लाल शर्मा ने वित्त मंत्री अरुण जेटली के खिलाफ सुप्रीम कोर्ट में एक पीआईएल दायर किया था, जिसमें उन्होंने जेटली के खिलाफ कार्रवाई की मांग की थी और आरोप लगाया था ।

ये भी पढ़ें :-जागरण फोरम उद्घाटन: UP में रामराज्य की अवधारणा को कर रहे साकार- CM योगी 

वह कुछ कंपनियों को ऋण छोड़ने के लिए आरबीआई के पूंजीगत रिजर्व को ‘लूट’ लेना चाहते हैं। अदालत की रजिस्ट्री को भी निर्देश दिया कि शर्मा को तब तक अन्य कोई पीआईएल दाखिल करने की इजाजत नहीं दी जाए, जब तक वह 50 हजार रुपये जमा नहीं कर देते।

loading...
Loading...

You may also like

ईएसआइसी अस्पताल में लगी आग, 147 से ज्यादा घायल, 6 की मौत

मुंबई। मुंबई के अंधेरी स्थित ईएसआइसी (ESIC)  कामगार