जानें टॉप-उप होम लोन क्या है? और क्या हैं इसके फायदे

- in व्यापार
Loading...

हम में से ज्यादातर लोगों को जब अचानक पैसे की जरूरत पड़ती है तो पर्सनल लोन सबसे आसान रास्ता दिखता है। इसकी वजह बैंकों द्वारा कम समय में लोन देना है। लेकिन, बाजार में पर्सनल लोन के मुकाबले काफी सस्ते विकल्प उपलब्ध हैं। सस्ते ब्याज पर लोन लेने के लिए आप होम लोन पर टॉप-अप या गोल्ड लोन का रुख कर सकते हैं। अगर आपने होम लोन लिया है तो बैंक से बात कर उस लोन पर आसानी से टॉप-अप करा सकते हैं। टॉप अप लोन की ब्याज दरें होम लोन से कुछ अधिक होती है लेकिन पर्सनल लोन से काफी कम होती हैं।

टॉप-उप होम लोन क्या?
यह मुख्य रूप से होम लोन पर एक ऋण राशि का लाभ उठाने के लिए अनुमति देता है। पहले से होम लोन लिए ग्राहकों को बैंक उनके वित्तीय साख को देखते हुए यह लोन देते हैं। हालांकि, होम लोने लेने के 6 से 12 महीने के बाद ही उस पर टॉप-अप की सुविधा ली सकती है।

इसलिए यह पर्सनल लोन से बेहतर
टॉप-अप लोन का इस्तेमाल किसी भी उद्देश्य के लिए किया जा सकता है। अगर घर का नवीकरण कराते हैं तो आयकर का लाभ भी मिलेगा। टॉप-अप लोन का इस्तेमाल बच्चों की शिक्षा, बेटी की शादी या फिर अतिरिक्त प्रॉपर्टी की खरीदारी के लिए भी किया जा सकता है। यह लोन मौजूदा होम लोन के अतिरिक्त लिया जाता है इसलिए होम लोन के भुगतान के साथ-साथ टॉप अप लोन की मासिक किस्तों का भुगतान भी करना पड़ता है।

लोन की राशि का निर्धारण
बैंक आम तौर पर प्रॉपर्टी की मौजूदा कीमत का 65 से 70 फीसदी तक (होम लोन सहित) टॉप अप लोन के तौर पर देते हैं। इसके लिए बैंक बाकायदा प्रॉपर्टी का मूल्यांकन करवाती हैं। टॉप-अप लोन की अधिकतम राशि अलग-अलग कर्जदाताओं पर निर्भर करती है। होम लोन का जितना ज्यादा भुगतान किया गया होता है उतना ज्यादा टॉप-अप लोन मिलता है।

आवेदन करने की प्रक्रिया
होम लोन पर टॉप-अप लेने के लिए ग्राहक ऑनलाइन या ऑफलाइन आवेदन कर सकते हैं। बैंक ग्राहक के वित्तीय रिकॉर्ड को देखते हुए बहुत की कम समय में लोन की रकम उसके खाते में ट्रांसफर कर देते हैं। बैंक टॉप-अप लोन पर बहुत ही कम प्रोसेसिंग फीस लेते हैं। कई बार अच्छे रिकॉर्ड वाले मौजूदा ग्राहकों को तो कोई शुल्क नहीं चुकाना पड़ता है।

कहां से लें लोन
आपने जिस बैंक या वित्तीय संस्थान से होम लोन लिया है वहां टॉप-अप के लिए आवेदन कर सकते हैं। टॉप अप लोन के लिए ऑनलाइन भी आवेदन किया जा सकता है। इस तरह के लोन पर प्रोसेसिंग फीस काफी कम है।

टॉप-अप लोन के फायदे
– टॉप-अप लोन की ब्याज दर पर्सनल लोन की तुलना में काफी कम है
– टॉप-अप लोन से मिले पैसों के इस्तेमाल पर कोई पाबंदी नहीं है
– इस लोन के लिए कोई अतिरिक्त चीज गिरवी रखने की जरूरत नहीं होती है
– लोन की प्रक्रिया काफी तेज और लोन भुगतान की अवधि काफी अधिक होती है

Loading...
loading...

You may also like

वाडिया ने रतन टाटा, एन चंद्रशेखरन और टाटा सन्स के 8 निदेशकों के खिलाफ केस किया था

Loading... 🔊 Listen This News वाडिया के केस