LU में अघोषित आपातकाल लागू करना चाहते हैं कुलपति

LU
Please Share This News To Other Peoples....

लखनऊ । लखनऊ विश्वविद्यालय प्रशासन (LU) ने अपनी हठधर्मिता एवं तानाशाही रवैया अपना रहा है ।  शनिवार को  कर्मचारियों की उपस्थिति पंजिका जप्त करा लिया है। जो कर्मचारियों के मौलिक अधिकारों का हनन है।

LU में लोकतांत्रिक तरीके से आंदोलन करने का संवैधानिक अधिकार

  • यह बात लखनऊ विश्वविद्यालय कर्मचारी परिषद के अध्यक्ष राकेश यादव ने कही।
  • उन्होंने कहा कि LU के सभी अधिकारीगण, शिक्षकगण और कर्मचारी विवि  के सेवक है।
  • सभी को अपने अधिकारों की रक्षा के लिए लोकतांत्रिक तरीके से आंदोलन करने का संवैधानिक अधिकार है।
  • परिषद के महामंत्री डॉ. संजय शुक्ला ने कहा कि कुलपति प्रो. एसपी सिंह LU में अघोषित आपातकाल लागू करना चाहते हैं ।

ये भी पढ़ें :-NBRI : शिक्षकों ने पढ़ा पौधों के जीवन का पाठ

कुलपति प्रो. एसपी सिंह मानमानी पर उतारू

  • पूर्व में प्रदेश सरकार द्वारा जारी आदेश न मानकर अपनी मानमानी पर उतारू हैं ।
  • कर्मचारी परिषद के निर्वाचित पदाधिकारियों  से बात के समस्या का समाधान करने के बजाय दमनकारी नीति अपना रहे है।
  • लविवि कर्मचारी परिषद के पदाधिकारियों ने बताया कि आगामी आठ  जनवरी से प्रस्तावित हड़ताल के सम्बंध आम सभा आहूत करने।

विधिक सूचना LU प्रशासन को दी

  • डॉ. संजय शुक्ला ने कहा कि उसके निर्णय की विधिक सूचना LU प्रशासन को दी।
  • इसके साथ ही उप- श्रमायुक्त एवं प्रदेश के उपमुख्यमंत्री  सहित शासन के अधिकारियों को भी पूर्व में ही सूचित किया जा चुका है।
  • डॉ. संजय शुक्ला ने कहा कि हड़ताल के दिन कर्मचारियों की उपस्थिति कर्मचारी परिषद कार्यालय में ही दर्ज करायी जाएगी।
  • जिसकी सूचना उपश्रमायुक्त को प्रेषित की जाएगी।
  • डॉ. संजय शुक्ला ने कहा कि विवि  प्रशासन की दमनकारी नीति स्वीकार नही किया जाएगा।

LU में धरना-प्रदर्शन पर रोक

  • लखनऊ विश्वविद्यालय के प्राक्टर प्रो. विनोद सिंह ने विवि में हड़ताल, नारेबाजी, धरना प्रदर्शन पर रोक लगा दी है ।
  • प्रो. विनोद सिंह ने कहा पढ़ाई का  माहौल खराब न करें।
  • निर्देशों का उल्लंघन पर अपराधिक धाराओं में कार्रवाई होगी।
loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *