लखनऊ: युवक ने प्रधानमंत्री को लिखा मार्मिक पत्र, कहा- अफसर BJP समर्थकों को करते हैं प्रताड़ित

प्रधानमंत्री
Please Share This News To Other Peoples....

लखनऊ। बीजेपी के एक समर्थक ने देश के प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी को एक मार्मिक पर पत्र लिख कर प्रशासन की कार्यशैली पर बड़े सवाल उठाए है। युवक ने पाई मोदी को भेजे पत्र में पुलिस विभाग, विधुत विभाग और लखनऊ विकास प्राधिकरण के कुछ अफसरो पर गंभीर आरोप लगाए हैं।  उसका कहना है कि ये अफसर ख़ास कर बीजेपी से जुड़े लोगों को निशाना बनाते हैं और सरकार को बदनाम करने का कोई मौका नहीं छोड़ते। बता दें कि ये पत्र लिखने वाले युवक नाम आनन्द प्रकाश गुप्ता है जोकि लखनऊ के इरादत नगर डालीगंज का रहने वाला है।

पढ़ें:- एक तरफ़ नरेन्द्र मोदी की राजनीतिक जीत का जश्न तो दूसरी ओर हो रहे है जवान शहीद 

प्रधानमंत्री को लिखे पत्र में युवक ने अफसरों पर लगाए गंभीर आरोप 

राजधानी लखनऊ के इरादत नगर डालीगंज निवासी आनन्द प्रकाश गुप्ता ने पुलिस विभाग, विधुत विभाग और लखनऊ विकास प्राधिकरण के कुछ अफसरो पर गंभीर आरोप लगाते हुए प्रधानमंत्री मोदी और मुख्यमंत्री योगी से शिकायत की है। युवक ने आरोप लगाया है कि पुलिस विभाग विधुत विभाग और लखनऊ विकास प्राधिकरण के कुछ अफसर ऐसे अफसर है जो खास कर बीजेपी से जुड़े लोगो को ही निशाना बनाते है और सरकार को बदनाम करने का कोई भी मौका हाथ से जाने नही देते है।

आनन्द प्रकाश ने पत्र में लिखा कि वो 2014 से बीजेपी के समर्थक है और वो व उनका पूरा परिवार बीजेपी को ही समर्थन करता है जिसके लिए उन्हे कभी कभी बड़ी चुनौतियो का सामना भी करना पड़ता है। उन्होंने कहा है कि बीजेपी का समर्थक होने के बावजूद उन्हे न्याय नही मिल रहा है बल्कि विधुत विभाग, पुलिस विभाग और लखनऊ विकास प्राधिकरण मे बैठे कुछ अफसर उनका व उनके परिवार का उत्तीडऩ कर रहे है।

आनन्द के मुताबिक उन्होने अहिबरनपुर के उपखण्ड अधिकारी जनमुल हुदा की जॉच कराने के लिए एक आवेदन पत्र दिया था। जिसका खमियाजा उपखण्ड अधिकारी को नही बल्कि मुझे मिला और एसडीओ ने मुझे फसाने और मुझे तबाह करने के लिए जो जाल बुना वो बिजली विभाग को शर्मसार करने वाला है। उससे भी ज्यादा अफसोस की बात तो ये है कि बिजली विभाग के इस भ्रष्ट अैर दबंग अधिकारी को पुलिस विभाग के अफसरो का एक अमला बचाने मे पूरी ताकत झोंके हुए है।

पीएम को लिखे पत्र मे आनन्द ने शिकायत की है कि वो इसी महिने की 6 तारीख को अपने पूरे परिवार के साथ सीतापुर एक शादी समारोह मे गए थे घर मे ताला लगा हुआ था उनके परिवार की गैर मौजूदगी मे एसडीओ नजमुल हुदा अपनी पूरी टीम के साथ आए और घर के बाहर सीढ़ी लगा कर उनकी टीम के लोग हमारे घर मे दाखिल हुए और लगभग एक घंटें तक घर के अन्दर ही रहे घर के अन्दर रख्खे 18 हजार रूपए व अन्य कीमती सामान घर से चोरी कर ले गए।

पढ़ें:- मोदी सरकार ने प्रचार के लिए पानी की तरह बहाए 4,343 करोड़ रूपए 

इसके अलावा एसडीओ की टीम ने घर के बाहर लगा बिजली का मीटर भी उखाड़ दिया जबकि उन पर बिजली का कोई बिल भी बकाया नही है। एसडीओ द्वारा दबंगई पूर्वक अन्जाम दी गई इस घटना की सूचना मोहल्ले के लोगो से आनन्द को मिली तो उन्होने फोन से ही आला अधिकारियो को सीतापुर से ही सूचित कर दिया। वापस आने पर उन्होने थाना हसनगंज पहुॅच कर एसडीओ और उनकी टीम के खिलाफ हसनगंज कोतवाली मे तहरीर दी साथ मे साक्ष्यो के आधार पर सीसीटीवी फुटेज भी दिए जिसमे साफ दिख रहा है कि किस तरह से बिजली कर्मचारी उनके घर मे सीढ़ी लगा कर दाखिल हुए। लेकिन तहरीर लेने के बाद पुलिस ने एसडीओ के खिलाफ आज तक न तो मुकदमा ही लिखा और न ही कोई पूछताछ की।

आनन्द ने बताया वो 6 तारीख से लेकर आज तक एएसपी टीजी , सीओ महानगर, इन्स्पेक्टर हसनगंज के पास एक नही बल्कि अनेक चक्कर लगा चुके है लेकिन पुलिस के अफसर बिजली विभाग के उस दबंग अफसर नजमुल हुदा के खिलाफ कोई कार्यवाही करने को तैयार नही है। आनन्द प्रकाश गुप्ता ने पीएम को लिखे पत्र मे एलडीए के कुछ अफसरो से भी नाराजगी की बात लिखी है। आनन्द का कहना है कि ये ऐसे चन्द सरकारी अफसर है जो सरकार को बदनाम करने का कोई भी मौका हाथ से जाने नही देना चाहते है।

आनंद ने पीएम से मदद मांगी है कि वो ऐसे अफसरो के खिलाफ सख्त कार्यवाही करे ताकि भविष्य मे कोई अफसर या कर्मचारी जन विरोधी काम करके सरकार को बदनाम न कर सके। आनन्द ने बतायाा कि वो देश को तरक्की और खुशहाली की ओर ले जाने वाले पीएम मोदी और सीएम योगी आदित्यनाथ के पद चिन्हो पर चलने का प्रयास कर रहे है वो न्याय पाने के लिए कोई भी संकट झेलने को तैययार है और उन्हे पूरी उम्मीद है कि प्रधानमंत्री उनके इस पत्र पर गम्भीरता से गौर करेगे और पूरे मामले की उच्च स्तरीय जॉच करा कर उन्हे न्याय जजरूर दिलाएंगे।

एसडीओ ने डिलीट कराए लोगों के मोबाईल के वीडियो

पीएम को पत्र लिखने वाले आनन्द प्रकाश गुप्ता का कहना है कि बिजली विभाग के उपखण्ड अधिकारी नजमुल हुदा ने अपनी टीम के साथ मिल कर उनके बन्द घर मे उनकी गैर मौजूदगी मे जिस गैर कानूनी घटना को दबंगई पूर्वक अन्जाम दिया उस घटना की वीडियो वहां मौजूद कई लोगो ने अपने मोबाईल से बनाई थी लेकिन दबंग एसडीओ ने वीडियो बनाने वाले लोगो को उनके घरो की बिजली काटने की धमकी देकर उनके मोबाईल से वीडियो डिलीट करवा दिए।

अपने को फंसता देख एसडीओ ने कुछ देर मे ही लगा दिया दूसरा मीटर

आनन्द प्रकाश गुप्ता का आरोप है कि एसडीओ की टीम उनके घर के बाहर लगा बिजली का मीटर उखाड़ कर ले गई थी लेकिन उन्हे जब मोहल्ले के लोगो से सूचना मिली तो उन्होने तत्काल बिजली विभाग और पुलिस विभाग के अफसरो को सीतापुर से ही फोन पर इस घटना की सूचना दे दी जिसके बाद एसडीओ ने अपने आपको फसता देख कुछ देर बाद ही उसी जगह पर बिजली का दूसरा मीटर लगवा दिया जबकि मीटर बिना किसी कारण नही बदला जा सकता है खास कर गृह स्वामी की गैर मौजूदगी मे तो कतई नही।

एसडीओ की टीम घर खंगालती रही एसडीओ सेल्फी लेते रहे

आनन्द प्रकाश गुप्ता का कहना है कि उनके परिवार की गैर मौजूदगी मे एसडीओ नजमुल हुदा की टीम सीढ़ी लगा कर उनके घर के अन्दर दाखिल हुई और एक घंटे तक घर खंगालती रही इस दौरान एसडीओ नजमुल हुदा घर के बाहर खड़े होकर अपने मोबाईल से अपनी सेल्फी फोटो खंीचते रहे। आनन्द का कहना है कि इस दौरान मोहल्ले के लोगो ने एसडीओ की इस कार्यवाही का विरोध करना चाहा तो चेकिंग का महा अभियान बता कर उन्हेने विरोध करने वालो की बिजली काटने की धमकी देकर उनकी आवाज को दबा दिया।

loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *