लखनऊ : सरकारी स्कूलों में बच्चों को बांट दिए एक ही पैर के दोनों जूते

एक ही पैर के दोनों जूतेएक ही पैर के दोनों जूते
Loading...

लखनऊ। राजधानी के परिषदीय स्कूलों में बच्चों को एक ही पैर के जूते बांटे जाने का मामला सामने आया है। जहां बच्चों को जो जूते वितरित किए जा रहे हैं, उनमें अधिकतर दोनों जूते एक ही पैर के निकल रहे हैं। इसके अलावा कई बाक्स से अलग-अलग कंपनियों के जूते निकले हैं, जिनके डिजाइन में काफी फर्क है। कई बाक्स में तो एक पैर का जूता लड़की का और एक पैर का जूता लड़के का निकला है। वहीं साइज को लेकर भी काफी गड़बड़ियां सामने आ रही हैं। ऐसे में नए जूते मिलने के बाद बच्चों को पुराने जूतों में ही स्कूल आना पड़ रहा है।

FaceApp से सावधान! आपके फोटो का यूं कर सकता है गलत इस्तेमाल 

बीएसए अमरकांत सिंह ने माना जूतों के साइज में  हैं कुछ कमियां

जूतों में गड़बड़ी का मामला सामने आने के बाद लखनऊ बेसिक शिक्षा अधिकारी (बीएसए) अमरकांत सिंह ने बताया कि जूतों के साइज में कुछ कमियां पाई गई हैं। हम लोग अपने स्तर से इसका सत्यापन कर रहे है। बीएसए कहते हैं कि रिपोर्ट आने के बाद जूतों की सप्लाई करने वाली कंपनी के खिलाफ भुगतान की रिकवरी की जाएगी। वहीं कंपनी को ब्लैक लिस्टेड किया जाएगा। सिंह ने बताया कि कंपनी के कॉन्ट्रैक्ट के मुताबिक उसने नियम का पालन नहीं किया हैं। बेसिक शिक्षा अधिकारी ने बताया लखनऊ के स्कूलों में 1.80 लाख जूतों की सप्लाई की गई थी। उन्होंने बताया जांच के आदेश दे दिए गए है। जांच के बाद कड़ी कार्रवाई की जाएगी।

अश्लील वीडियो बनाकर चार साल तक देवर भाभी से करता रहा दुष्कर्म

जूतों के अलावा मोजों की गुणवत्ता भी बहुत खराब 

बता दें कि 10 हजार से अधिक जूतों में गड़बड़ी की शिकायत सामने आई है। इसके अलावा मोजों की गुणवत्ता भी बहुत खराब है। लखनऊ में प्राइमरी व उच्च प्राइमरी मिलाकर कुल 1,839 स्कूल हैं। इनमें एक लाख 42 हजार छात्र-छात्राओं को संपूर्ण स्कूल ड्रेस यानी यूनिफार्म, बैग, जूते व मोजे वितरित किए जाने हैंं। वहीं बच्चों ने शिकायत की है कि दस दिनों में जूतों के धागे निकलना शुरू हो गए हैं। शिक्षकों ने इसकी जानकारी अपने उच्चाधिकारियों को दे दी है। बच्चों को जो मोजे वितरित किए जा रहे हैं, उनकी गुणवत्ता भी बहुत खराब है।

Loading...
loading...

You may also like

तिहाड़ में यासीन मलिक और बिट्टा जी रहे हैं नरक की जिंदगी

Loading... 🔊 Listen This News नई दिल्ली। जम्मू-कश्मीर