बसपा ने बनाया आईटी सेल, पार्टी के दिग्गज नेता ने संभाली कमान

आईटी सेलआईटी सेल

लखनऊ। मिशन 2019  का लक्ष्य भेदने के लिए बसपा ने भी आईटी सेल का गठन कर दिया है। यह आईटी सेल आगरा-लखनऊ एकसप्रेस वे पर स्थित एक यूनिवर्सिटी से शुरु किया है। इस सेल ने अपना काम भी शुरु कर दिया है।

आईटी सेल 2019 लोकसभा चुनावों को मद्देनजर रखते हुए सोशल मीडिया पर कर रहा है पोस्ट

बतातें चलें कि 2019 लोकसभा चुनावों को मद्देनजर रखते हुए सोशल मीडिया पर पोस्ट की जा रही हैं। ज्यादातर पोस्ट बीजेपी पर हमला करती हुई हैं। यूपी की योगी और केन्द्र सरकार के कामकाज पर सवाल उठाने वाली पोस्ट भी भेजी जा रही हैं। एक करोड युवा बसपा समर्थकों का ग्रुप..!!, Dr.BR.Ambedkar life of struggle,Jay bhim army group और I AM WITH MAYAWATI नाम के ग्रुप से पोस्ट भेजी जा रही हैं।

ये भी पढ़ें :-मिशन 2019 : BSP सम्मेलन में गूंजे ‘मिले मुलायम-कांशीराम’ के नारे

पार्टी के कद्दावार नेता सतीश मिश्रा के दामाद परेश मिश्रा को दी गई कमान

आईटी सेल की खास बात ये है कि बसपा ने इस सेल की कमान अपने ही कद्दावार नेता सतीश मिश्रा के दामाद परेश मिश्रा को दी है। परेश लखनऊ के रहने वाले हैं। उनके पिता एक जाने-माने वकील हैं। परेश खुद भी एक वकील हैं। 2017 के यूपी विधानसभा चुनावों के दौरान परेश को लेकर विवाद भी हो चुका है। ट्विटर पर बसपा सुप्रीमो मायावती से जुड़े एक ट्वीट को लेकर विवादों में आए थे। इतना ही नहीं बसपा से बगावत करने के बाद नसीमुद्दीन सिद्दीकी ने भी सतीश मिश्रा और परेश मिश्रा पर कई गंभीर आरोप लगाए थे।

जाने कौन हैं परेश मिश्रा

लखनऊ के सेंट फ्रांसिस स्कूल से अपनी पढ़ाई की थी। परेश यूपी बार काउंसिल के चुनाव भी जीते चुके हैं। 2012 में परेश की शादी श्यामली मिश्रा से हुई थी। पिता गोपाल नारायण मिश्रा लखनऊ के एक नामी वकील हैं। बसपा सरकार के दौरान उन्हें भी लाल बत्ती दी गई थी। नसीमुद्दीन ने सतीश मिश्रा और परेश मिश्रा पर लगाए थे आरोप। उनका आरोप था कि सिर्फ दो लोगों को मायावती के घर बिना तलाशी एंट्री मिलती है। एक बसपा के राष्ट्रीय महासचिव सतीश चंद्र मिश्रा और दूसरे परेश मिश्रा को ।

 

loading...
Loading...

You may also like

सिपेट कॉलेज पर कृष्ण के पिता ने लगाया लापरवाही का आरोप, छात्रों ने मचाया हँगामा

लखनऊ। सरोजनीनगर के नादरगंज स्थित सिपेट कॉलेज में