लखनऊ: हिन्दू-मुस्लिम कपल विवाद में होगा रि-वेरिफिकेशन, गड़बड़ी होने पर होगा पासपोर्ट जब्त

पासपोर्टपासपोर्ट

लखनऊ। यूपी की राजधानी लखनऊ में पासपोर्ट को लेकर हिन्दू-मुस्लिम कपल के विवाद में अब नया मोड़ आ सकता है। इस मामले में अब धर्म को लेकर अफसर से कोई भी विवाद न होने की बात कही जा रही है। वहीं सोशल मीडिया पर दोनों पक्षों की बात सुनने और जांच कराने की मांग उठ रही है। सूत्रों के मुताबिक तन्वी सेठ के नाम और स्थायी पते को लेकर उठे विवाद के बाद एक बार फिर से पूरे मामले की जांच की जा सकती है।

पढ़ें:- लखनऊ : Passport अधिकारी के समर्थन उतरा RSS , मांगा न्याय 

पासपोर्ट का हो सकता है वेरिफिकेशन

इस विवाद के तूल पकड़ने के बाद भले ही अफसरों ने अपना गला बचाने के लिए आनन-फानन में तन्वी सेठ का पासपोर्ट उन्हें दे दिया गया हो। बताया जा रहा है कि पासपोर्ट अधिकारी विकास मिश्र के तथ्यों के आधार पर फिर वेरिफिकेशन किया जा सकता है। खबर है कि अगर पासपोर्ट वेरिफिकेशन में गड़बड़ी पाई गई तो तन्वी सेठ का पासपोर्ट भी जब्त हो सकता है।

इस मामले में विकास मिश्र द्वारा अपने पक्ष में जिन तथ्यों को रखा है। उसे लेकर अब सोशल मीडिया पर चर्चा जोरों पर है। बताया जा रहा है कि पासपोर्ट अधिकारी विकास मिश्र ने तन्वी सेठ की शादी के बाद नाम बदल कर सादिया अनस रखे जाने और बदले नाम के कॉलम को खाली छोड़ दिए जाने को लेकर सवाल पूछे थे। जिसे हिन्दू मुस्लिम विवाद को रूप दिया गया।

पढ़ें:- लखनऊ Passport office में धर्म पर शर्मनाक सवाल, विदेश मंत्रालय ने मांगी रिपोर्ट 

नोएडा में रहते हुए दिया गया लखनऊ का पता

इसके अलावा अफसर ने नोएडा में रहते हुए लखनऊ का पता देने पर पूछताछ की थी। विकास मिश्र द्वारा इस मामले में तथ्यों को रखे जाने के बाद पासपोर्ट विभाग एक बार फिर से तन्वी सेठ के मामले में रि-वेरिफिकेशन करने की तैयारी में है। अफसर का कहना है कि तन्वी सेठ ने नोएडा में रहते हुए नोएडा का पता न देकर सिर्फ लखनऊ का पता दिया था। साथ ही निकाहनामे में बदले हुए नाम ‘सदिया अनस’ की कोई जानकारी फॉर्म में नहीं लिखी थी। जिसको अफसर ने तन्वी सेठ से सवाल जबाब किए थे।

बता दें कि मामला मीडिया आने के बाद न सिर्फ तन्वी सेठ का पासपोर्ट दिया गया। बल्कि विकास मिश्र का तबादला भी गोरखपुर कर दिया गया। लेकिन इसके बाद विकास मिश्र का पक्ष मजबूती से सामने आने के बाद ऑल इंडिया पासपोर्ट स्टाफ एसोसिएशन ने भी दखल दिया। जिससे कर्मचारियों के विरोध को देखते हुए विकास मिश्र के खिलाफ कार्रवाई से विभाग भी सहम गया है।

loading...
Loading...

You may also like

सुप्रीम कोर्ट के इस फैसले से कांग्रेस पार्टी का झूठ बेनकाब: योगी

लखनऊ। उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने