लखनऊ: सेंट मेरी अस्पताल की लापरवाही के चलते मरीज की गयी जान

Please Share This News To Other Peoples....

लखनऊ। राजधानी में डॉक्टरों की लापरवाही से मौत का सिलसिला जारी है एक बार फिर डॉक्टर की लापरवाही के चलते एक मरीज को अपनी जान गवानी पड़ी जिसके बाद परिजनों ने शव को रख कर जमकर प्रदर्शन किया वहीं पुलिस ने बड़ी मुश्किल से लोगों को शांत करवाया

ये पूरा मामला राजधानी के मडियांव थाना क्षेत्र का है यहाँ पर 12 अक्टूबर को भुड़पुरवा निवासी रामलाल अपनी  पत्नी राधा को लेकर सेंट मेरी में डिलीवरी के लिए पहुंचे थे तो डॉक्टर ने उन्हें पत्नी को भर्ती करने के लिए कहा   डॉक्टर्स ने रामलाल से कहा कि आप शाम को खाना लेकर आना तब दवा भी ले आना।

रामलाल ने बताया राधा को डिलीवरी के लिए इंजेक्शन दिया गया और सुबह के 3 या 4 बजे जब डिलवरी होनी थी। लेकिन मरीज की हालत नाजुक होने लगी बच्चेदानी में बच्चा फस गया। इसके बाद डॉक्टर्स ने बोला ऑपरेशन करना पड़ेगा। इसके बाद डॉक्टर्स ने मरीज को रेफर करने के लिए कहा जिसके बाद परिजनों ने आनन-फानन में मरीज को सहारा अस्पताल ले जाया गया।

तब तक बहुत देर हो चुकी थी मरीज नेक गुरुवार को दम तोड़ दिया। इसके बाद नाराज परिजन शव लेकर सेंट मेरी असपताल पहुंचे और जमकर हनागामा काँटा जिसके बाद गुडम्बा थाना इंस्पेक्टर राम सूरत सोनकर मौके पर पहुंचे और परिजनों को समझाने की कोशिश की परिजनों ने अस्पताल प्रशासन पर लापरवाही और गैर जिम्मेदाराना रवैये के तहत कार्रवाई की है।

बताया जा रहा है कि 4 दिन पहले भी गुडम्बा थाना पे सेंट मेरी के खिलाफ एफआईआर व करवाई की मांग की तो पुलिस ने इंकार कर दिया था। आज जब एफआईआर लिखवाने को कहा गया तो आज सुबह मरीज की मौत के बाद लोगो का गुस्सा फूटा तो शव रख कर प्रदर्शन कर नारेबाजी की। रामलाल सहारा इंडिया परिवार की फ्रेंचाइसी इंजिनयरिंग कार्यालय पे काम करते है और इन्होंने इसकी शिकायत नीरज बोरा व सीएमओ से भी इसकी शिकायत की है और अस्पताल प्रशाशन पर कार्यवाई की मांग कर रहे है।

loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *