लखनऊ: नगर विकास मंत्री से मिलने पीजीआई पहुंचे मुख्यमंत्री

नगर विकास मंत्री
Please Share This News To Other Peoples....

लखनऊ। यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ शुक्रवार को नगर विकास मंत्री सुरेश खन्ना का हाल चाल लेने पीजीआई पहुंचे। 15 मिनट रूकने के बाद योगी आदित्यनाथ अमौसी एयरपोर्ट के लिए रवाना हो गये। बता दें कि रविवार को शाहजहांपुर में सुरेश खन्ना की तबियत ख़राब हो गई थी। जिसके बाद उन्हें सोमवार को लखनऊ के पीजीआई अस्पताल में भर्ती कराया गया था।

नगर विकास मंत्री के हालत में हो रहा है सुधार

इस मामले में पीजीआई के डायरेक्टर प्रोफेसर राकेश कपूर ने बताया कि  सुरेश खन्ना का अभी 2-3 दिन तक भर्ती रहने वाले हैं। उनकी सुधार हो रहा है। तनाव और थकान कि वजह से उन्हें रेस्ट लेने की आवश्यकता है। उनका बुखार कम हो गया है लेकिन सर में दर्द बना हुआ है। बताया जा रहा है कि सुरेश खन्ना बीते एक सप्ताह से वायरल फीवर से ग्रसित हैं।

ये भी पढ़े : मोदी ने जनकपुर-अयोध्या बस सेवा को दिखाई हरी झंडी, कहा हम हैं भाई-भाई 

दरअसल सूबे के नगर विकास मंत्री सुरेश खन्ना कि शाहजहांपुर में रविवार को अचानक तबियत बिगड़ गई थी। उन्हें खिरनीबाग इलाके के चौधरी अस्पताल में भर्ती कराया गया था। चेकअप के बाद डॉक्टरों ने बताया कि कैबिनेट मंत्री वॉयरल फीवर की चपेट में आ गए हैं। मंत्री सुरेश खन्ना रविवार रिंग रोड का शिलान्यास करने के लिए सतवां गांव पहुंचे थे। कैबिनेट मंत्री तीन दिन से बीमार चल रहे थे। उनको करीब 103 बुखार था।

Related posts:

रिसर्च: नोटबंदी और GST जैसे कड़े फैसलों के बावजूद भारत को सिर्फ मोदी पसंद है....
जिग्नेश का कांग्रेस को बड़ा झटका, राहुल गांधी से मिलने से किया इंकार
ओमप्रकाश राजभर का बड़ा बयान-अगर साबित हुआ हादसा मेरी गाड़ी से हुआ है, तो मंत्री पद छोड़ दूंगा
कांग्रेस हमारे रिश्तेदार के बच्चे नहीं जो हम चुप रहेंगे, कांग्रेस-बीजेपी एक जैसी हैं: हार्दिक पटेल
लखनऊ: गर्भवती महिला की इलाज के दौरान मौत मामले में सीएमओ ने लिखा पत्र
देवर के साथ आपत्तिजनक स्थिति में मिली पत्नी, पति ने गुस्से में काटी नाक
बेंगलुरु: लोकायुक्त पी० विश्वनाथ शेट्टी पर जानलेवा हमला, हालत गंभीर
बाल नृत्यांगना गिन्नी सहगल ने नेपाल में लखनऊ का बजाया डंका  
मायावती के करीबी रहे अफसर का आरोप, बसपा सरकार ने एससी-एसटी एक्ट को कमजोर किया
योगी ने कसी निजी स्कूलों की मनमानी पर लगाम, अधिक शुल्क वसूला तो जायेगी मान्यता
राफेल लड़ाकू विमानों की खरीद की हो न्यायिक जांच: कांग्रेस
मंत्रीपद बंटवारे को लेकर कुमारस्वामी ने कांग्रेस के सामने रखी यह शर्त

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *