लखनऊ: संस्कार वाटिका बाल भवन का किया गया लोकार्पण

संस्कार वाटिका बाल भवन का लोकार्पण

लखनऊ। गीता परिवार व श्रीदुर्गा मंदिर धर्मजागरण सेवा समिति के तत्वावधान में संस्कार वाटिका बाल भवन का उद्घाटन गीता परिवार के संस्थापक परमपूज्य स्वामी गोविन्ददेव गिरि महाराज के कर-कमलों से मंगलवार को चतुर्थ तल श्रीदुर्गा मंदिर कल्याणकारी आश्रम, शास्त्रीनगर लखनऊ में किया गया।

वरिष्ठ कार्यकर्ताओं ने किया माला पहनाकर स्वामीजी का अभिनन्दन

इस अवसर पर वरिष्ठ कार्यकर्ताओं ने माला पहनाकर स्वामीजी का अभिनन्दन किया, इसके साथ में संस्कारी बच्चों ने श्रीमद्भागवत गीता के श्लोकों का संगीतबद्ध सस्वर पाठ किया। संस्कार वाटिका बाल भवन के उद्घाटन अवसर पर सोलह प्रकार म्यूजिकल योगों का अविस्मरणीय प्रस्तुति दी गई जिसमें सभी बच्चे केसरिया रंग की टीशर्ट तथा काले रंग के लोवर में नजर आये। इसके तत्पश्चात् दुर्गा मंदिर प्रांगण में स्वामीजी का प्रवचनों से सभी लोग क्या छोटे-क्या बड़े भक्तिमय गंगा में डुबकी लगा रहे थे। इस संपूर्ण कार्यक्रम का सजीव प्रसारण गीता परिवार के फेसबुक पर किया जा रहा था।

बाल भवन में नित्य योग, भगवद्गीता के साथ शास्त्रीय नृत्य सिखाने की भी व्यवस्था होगी

गीता परिवार के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष डा. आशु गोयल ने उद्बोधन में कहा कि संस्कार वाटिका बाल भवन में नित्य योग, भगवद्गीता, संस्कृत संभाषण, नियुद्ध (जुडो-कराटे), शास्त्रीय नृत्य आदि विभिन्न गतिविधियां क्रमशः आरम्भ की जायेगी। जिसके लिए योग व प्रवीण प्रशिक्षकों को नियुक्त किया जायेगा। संस्कार वाटिका में उन सभी बच्चों को गीता परिवार से जुड़ने का एक सुनहरा अवसर दे रहा है।

ये भी पढ़ें:- सेंट जोजफ इन्टर कालेज के बच्चों द्वारा क्लास प्रेजेन्टेशन से दिखाई अपनी प्रतिभा

संस्कार रहित अक्षरज्ञान को शिक्षा नहीं कहना चाहिये, यह दिशा हमें संस्कार शिक्षा से ही प्राप्त होती है। लेकिन वर्तमान समय में यह विलुप्त सा हो गया है। संस्कारी शिक्षा देने का प्रयास गीता परिवार निरन्तर कर रहा है। उसी का परिणाम है कि विगत जून माह में श्रीमद्भागवत गीता संपूर्ण कंठस्थीकरण के लिये संस्कार महाकुम्भ में 18 बच्चों को महामहिम राज्यपाल उ.प्र. रामनाईक ने सम्मानित किया था। यह उन सभी बच्चों के प्रगति व उन्नति के परिचायक और आगे जुड़ने वाले बच्चों के प्रेरणास्रोत बने रहेंगे।

गिरजाशंकर अग्रवाल, सुधीर शंकर हलवासिया,राजीव मिश्रा, राजेन्द्र गोयल भी हुए शामिल

सचिव अनुराग पाण्डेय के अनुसार गीता परिवार के संक्षिप्त परिचय में बताया कि 32 वर्ष पूर्व स्वामी गोविन्ददेव गिरि जी महाराज और स्व. श्री ओंकारनाथ मालपाणी जी ने कि जो बालकों के नैतिक, चारित्रिक, बौद्धिक व शारीरिक उत्थान एवं विकास के लिए गीता परिवार की स्थापना की।इसकी उ.प्र. की लखनऊ शाखा में प्रतिवर्ष ग्रीष्मकाल में विभिन्न विद्यालयों व सार्वजनिक स्थानों पर निःशुल्क संस्कार पथ शिविर आयोजित किये जाते है।राजधानी में विगत 19 वर्ष से बच्चों के संस्कार शिविर लगाये जाते रहे है। स्वामीजी सदैव ही सबको जमीनी स्तर पर कार्य करने को कहते है। 19 राज्यों में कार्य विस्तार के साथ सूर्य नमस्कार, भगवद्गीता, प्रज्ञा संवर्धन और संस्कारों के अनेक आयामों में गीता परिवार ने पूरे देश में अनेक कीर्तिमान स्थापित किये हैं। गीता परिवार बालकों में देशभक्ति, राष्ट्रीयता, चारित्रिक, मानसिक व बौद्धिक उन्नयन करने के लिए प्रतिबद्ध है। इस मौके पर गिरजाशंकर अग्रवाल, सुधीर शंकर हलवासिया, राजीव मिश्रा, राजेन्द्र गोयल, अनुपम मित्तल, अरविन्द शर्मा, शिवेन्द्र मिश्रा एवं गणमान्य लोग व कार्यकर्ता आदि मौजूद थे।

loading...

You may also like

मुलायम सिंह के अखिलेश की रैली में पहुंचने से भड़के शिवपाल, कह दी ये बड़ी बात

लखनऊ। समाजवादी सेक्युलर मोर्चा का गठन करने के