मजदूर की हत्या के 36 घण्टे बाद भी हत्यारोपी मदारी फरार

- in Main Slider, क्राइम, लखनऊ
मृतक मजदूर ब्रम्हानंदमृतक मजदूर ब्रम्हानंद

लखनऊ। मोहनलालगंज के गौरा गांव में उधार के रूपये मांगने पर नशे में धुत युवक ने लाठी-डण्डे से पीटकर मजदूर की हत्या कर दी। मृतक की पत्नी ने आरोपी युवक के खिलाफ मुकदमा दर्ज कराया है। पीड़ित परिजनों का कहना है कि वारदात के बाद पुलिस हत्यारोपी की गिरफ्तारी नहीं कर रही है। वहीं शनिवार देर शाम पोस्टमार्टम होने के बाद मृतक का शव घर पहुंचा, जिसके बाद परिजनों का रो-रोकर बुरा हाल है।

मोहनलालगंज के गौरा गांव में मजदूर ब्रम्हानंद रावत (35) पत्नी रूपरानी व 14 वर्षीय बेटे रिकूं के साथ रहता था। रूपरानी ने बताया बीते शुक्रवार की रात आठ बजे पति ब्रम्हानंद घर के बाहर नशे में धुत खङे पड़ोसी मदारी से उधार दिए गये सौ रूपये मांगे। इस पर वह भड़क गया और गाली गलौच और धमकी देना शुरू कर दिया। दोनों के बीच चल रही कहासुनी के दौरान आरोपी मदारी ने लाठी-डण्डे से ब्रम्हानंद पर हमला कर दिया।

ये भी पढ़ें:-कोर्ट के आदेश के बाद दुष्कर्म का मुकदमा दर्ज, अब मिल रही है धमकियां 

हमले में ब्रम्हानंद गंभीर रूप से घायल हो गया, जिसके बाद आरोपी वहां से भाग निकला। घटना के बाद हड़कंप मच गया आनन-फानन में ग्रामीणों ने घायल को ट्रामा सेंटर में भर्ती कराया, जहां डाॅक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया। मृतक की पत्नी रूपरानी की तहरीर पर पुलिस ने आरोपी मदारी के विरूद्व गैर इरादन हत्या सहित अन्य धाराओं में मुकदमा दर्ज कर उसकी तलाश में जुट गयी है।

लेकिन घटना के 36घंटे बीत जाने के बाद आरोपी को गिरफ्तार करने में नाकाम रही। वहीं शनिवार की शाम मृतक मजदूर ब्रम्हानंद का शव पोस्टमार्टम के बाद घर पहुंचते ही कोहराम मच गया। कार्यवाहक इंस्पेक्टर ने बताया आरोपी की तलाश के लिये पुलिस की कई टीमें लगायी गयी है जल्द ही आरोपी पुलिस की गिरफ्त में होगा।

Loading...
loading...

You may also like

मोदी बोले लोकतंत्र हमारे संस्कारों में, जबकि दूसरे दलों में परिवार है पार्टी

मुम्बई। प्रियंका गांधी को कांग्रेस द्वारा पूर्वी उत्तर