नहाती हुई 219 महिलाओं का बनाया वीडियो, फिर पोर्न वेबसाइट पर किया अपलोड

पोर्न वेबसाइटपोर्न वेबसाइट

नई दिल्ली। महिलाओं की इज्जत को खिलौना समझने वाले एक युवक के 14 साल सलाखों के पीछे बिताने वाला है। न्यूज़ीलैंड में महिलाओं की नहाते हुए वीडियो को पोर्न वेबसाइट पर डालने वाले युवक को कोर्ट ने ये सजा सुनाई है। दरअसल वो अपने गेस्ट हाउस के बाथरूम में शैंपू की बोतल में लगाए गए कैमरे से वीडियो बनाता था। उसने उत्तरी द्वीप के हॉक्स की खाड़ी में 219 गुप्त रिकॉर्डिंग की थी। यह सभी रिकॉर्डिंग दिसंबर 2017 से फरवरी 2018 के बीच फिल्माए गए थे।

पोर्न वेबसाइट पर डालता था महिलाओं की वीडियो

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक ये शख्स अधिकतर की उम्र 30 साल से कम उम्र की महिलाओं की गुप्त तरीके से वीडियो बनाया करता था। वह कैमरा इस तरह लगाता था कि नहाती हुई महिलाओं की तस्वीर कंधे से लेकर घुटने तक आ सके। इस बात का पता नहीं चल पाया है कि स्पाई कैमरे वाली शैंपू की बोतल घर पर बनाई गई थी या ऑनलाइन ख़रीदी गई थी।

पढ़ें:- राहुल गांधी की पोर्न वीडियो देखते हुए तस्वीर सोशल मीडिया पर वायरल 

पुलिस इस मामले में पुलिस ने बताया कि महिलाओं यह जानकार दुखी और चकित हैं। उन्हें उस व्यक्ति पर गुस्सा आ रहा है, जिसने उनकी वीडियो बनाई है. जिसके बाद फरवरी में जब उस शख्स की गिरफ़्तारी हुई थी तो उसने पुलिस को बताया था कि वो ऐसा रोमांच के लिए करता था साथ ही उसे पकड़े जाने का रिस्क था।

पुलिस ने कोर्ट में बताया था कि कैमरा लगाने के बाद वो शख़्स रिमोट से उसे चलाता था। जब महिला बाथरूम के अंदर नहाने जाती थी, तब वो दूर से ऑन कर देता था। वीडियो बनाने के बाद वो रात को वीडियो अपने कंप्यूटर में डाउनलोड करता था।

पोर्न वेबसाइट पर कमेंट की करता था अपील

पुलिस ने बताया कि वीडियो फिल्माने के बाद वो रात को वीडियो अपने कंप्यूटर में डाउनलोड करता था। इनमें से कई वीडियो को वो पॉर्न साइट पर पोस्ट करता था। वो शख़्स वीडियो देखने वाले लोगों से अपील करता था कि वो अच्छे कमेंट करें। ताकि वो प्रोत्साहित होकर और वीडियो बना सके। वीडियो के डिटेल में वो शख़्स पीड़ित महिलाओं के बारे में भी जानकारी डालता था। वो उनके धर्म और व्यवसाय की जानकारी भी देता था।

सबसे हैरान करने वाली बात यह है कि वो यह भी बताता था कि वो किस तरह से यह वीडियो बनाया है और पीड़िता के निजता का हनन किया है। दोषी क़रार दिए गए शख़्स के वकील ने कोर्ट से अपील की थी कि उसकी पहचान गुप्त रखी जाए ताकि उनकी बीमार पत्नी की तबीयत न ख़राब हो। वकील का कहना था कि अगर उसके पति की पहचान सार्वजनिक की जाती है तो उनकी तबीयत और ख़राब हो सकती है।

पढ़ें:- हरियाणा: 120 महिलाओं के साथ रेप करने वाला जलेबी बाबा चलाता था पोर्न इंडस्ट्री! 

वहीं दूसरे पक्ष के वकील का कहना था कि उस व्यक्ति ने 34 महिलाओं के बेहद निजी पलों को दुनिया के सामने लाने का अपराध किया है। मामले के सामने आने के बाद न्यूज़ीलैंड की पुलिस ने इन वीडियो को डिलीट कर दिया है। दोषी ठहराए गए शख़्स की सज़ा का ऐलान अक्टूबर में किया जाएगा। उन पर लगी धाराओं में उन्हें अधिकतम 14 साल की जेल हो सकती है।

loading...
Loading...

You may also like

अमेरिका की पहली हिंदू सांसद तुलसी गबार्ड ने दिए राष्ट्रपति चुनाव लड़ने के संकेत

 अमेरिका की पहली हिंदू सांसद तुलसी गबार्ड ने