#MeToo मामलों की जन सुनवाई के लिए बनायी जाए न्यायिक समिति : मेनका गांधी

- in Categorized
#MeToo मामलों

नई दिल्ली। तेजी से चल रहे #MeToo केम्पेन को लेकर केंद्रीय महिला एवं बाल विकास मंत्री मेनका गांधी खुल कर समर्थन में आ गयी हैं। मेनका गांधी ने ताजा बयान देते हुए कहा कि #MeToo मामलों की जन सुनवाई के लिए सेवानिवृत्त न्यायाधीशों की चार सदस्यीय समिति गठित की जाएगी। वरिष्ठ न्यायाधीश, कानूनी विशेषज्ञों वाली प्रस्तावित समिति मी टू से उत्पन्न सभी मुद्दों को देखेगी। मीटू पर केंद्रीय मंत्री मेनका गांधी ने कहा, मैं प्रत्येक शिकायत की पीड़ा और सदमा समझ सकती हूं।

#MeToo मामलों की जन सुनवाई के लिए न्यायिक समिति का गठन

गौरतलब है कि इससे पहले मीटू मामले पर मेनका गांधी ने कानून मंत्रालय से यह मांग की थी कि वह शिकायत करने की आयुसीमा और समय सीमा की बाध्यता को समाप्त कर दें। पिछले कुछ दिनों से मीटू मामले में जिस तरह से बड़े-बड़े नाम फंसते नजर आ रहे हैं उससे यह मामला गंभीर होता जा रहा है। केंद्रीय मंत्री एम जे अकबर पर भी गंभीर आरोप लगे हैं।

ये भी पढ़ें : समलैंगिक कानून आने से बढ़ी HIV मरीजों की संख्या, आगरा में 47 लोग संक्रमित 

बता दें कि केंद्रीय मंत्री एमजे अकबर पर लगे आरोपों पर मेनका गांधी ने मंगलवार को एक टीवी चैनल के साथ बातचीत में कहा था कि यौन शोषण के आरोपों को गंभीरता से लेना चाहिए, क्योंकि महिलाएं अक्सर बाहर बोलने से घबराती हैं। उन्होंने कहा ‘कई पुरुष जो ऊंचे ओहदे पर होते हैं अक्सर ऐसा करते हैं और मीडिया, राजनीति या कई कंपनियों में भी ऐसा होता है।

loading...
Loading...

You may also like

सबरीमाला मंदिर: तंत्री ने दी मंदिर बंद करने की धमकी, उठने लगे सवाल

तिरुवनंतपुरम। केरल के सबरीमाला मंदिर में शुक्रवार को