शिक्षण संस्थानों की लापरवाही से फंसेगा लाखों छात्रों की छात्रवृत्ति और शुल्क भरपाई

छात्रवृत्ति और शुल्क भरपाईछात्रवृत्ति और शुल्क भरपाई
Loading...

लखनऊ। उत्तर प्रदेश में शिक्षण संस्थानों की लापरवाही से लाखों छात्रों की छात्रवृत्ति और शुल्क भरपाई फंसने की नौबत आ गई है। जिन छात्रों को दो अक्टूबर तक भुगतान किया जाना है, उनका डाटा, संस्थानों को हर हाल में 3 सितंबर तक फारवर्ड करना है। लेकिन, संस्थानों ने अभी तक आवेदन करने वाले 12 फीसदी छात्रों का भी डाटा फारवर्ड नहीं किया है। समाज कल्याण विभाग ने इन संस्थानों के प्रबंधन के लिए कड़ी चेतावनी जारी की है।

योगी मंत्रिमंडल का विस्तार: महेंद्र सिंह समेत इन मंत्रियों ने ली शपथ 

उत्तर प्रदेश सरकार ने ‘नवीनीकरण श्रेणी’ में आवेदन करने वाले छात्रों को दो अक्टूबर से पहले भुगतान करने के निर्देश दिए हैं। इतना ही नहीं दो अक्टूबर को जिलों में जनप्रतिनिधियों की मौजूदगी में कार्यक्रम करके इन छात्रों को प्रमाणपत्र वितरित करने के लिए भी कहा है। दो अक्टूबर तक छात्रो का भुगतान करने के लिए जरूरी है ,कि शिक्षण संस्थान 3 सितंबर तक नवीनीकरण श्रेणी का डाटा जिलास्तरीय अधिकारियों को फारवर्ड कर दें।

रविदास मंदिर हटाने के खिलाफ भीम आर्मी का दिल्‍ली की सड़कों पर प्रदर्शन 

इस समय स्थिति यह है कि दशमोत्तर कक्षाओं में सामान्य व अनुसूचित जाति के 7.24 लाख छात्रों ने ऑनलाइन आवेदन कर दिया है, पर इनमें से 84,252 छात्रों का डाटा ही जिलास्तरीय अधिकारियों को आगे भेजा गया है।लगभग यही स्थिति अन्य पिछड़ा वर्ग और अल्पसंख्यक छात्रों के मामले में भी है।

Loading...
loading...

You may also like

सुन्नी वक्फ बोर्ड : बाबरी मस्जिद के लिए जमीन पर अंतिम फैसला 24 फरवरी को

Loading... 🔊 Listen This News नई दिल्ली। बाबरी