लाल किले पर पीएम मोदी के भाषण पर भड़कीं मायावती, लगाए गंभीर आरोप

लाल किले

लखनऊ। बसपा सुप्रीमो मायावती ने स्वतंत्रता दिवस के मौके पर पीएम मोदी के लाल किले से दिए भाषण पर तीखी प्रतिक्रिया दी है। मायावती ने इस भाषण को पूर्ण रूप से राजनीतिक शैली का चुनावी भाषण करार दिया है। बसपा सुप्रीमो के मुताबिक इस लम्बे-चौड़े भाषण से सवा सौ करोड़ आबादी वाले देश को ना तो नई ऊर्जा मिली और ना ही कोई नई उम्मीद। साथ ही उन्होंने इस भाषण में कई खामियों को बताया।

पढ़ें:- पिछली बार छठी पंक्ति में था बिठाया, स्वतंत्रता दिवस पर राहुल को यहां मिली जगह 

लाल किले पर मायावती ने पीएम मोदी के भाषण में गिनाई खामियां

बसपा सुप्रीमो मायावती ने पीएम मोदी के भाषण पर प्रतिक्रिया देते हुए कहा कि लाल किले पर पीएम मोदी के लम्बे-चौड़े भाषण से सवा सौ करोड़ आबादी वाले देश को ना तो नई ऊर्जा मिली और ना ही कोई नई उम्मीद। उन्होंने कहा कि पीएम मोदी देश की जनता को सुरक्षा की अति-महत्त्वपूर्ण संवैधानिक गारंटी का आश्वासन देना भी भूल गए, बल्कि यह वर्त्तमान समय में देश की आवश्यकता नंबर-1 बन गई है।

मायावती ने अपना सुझाव देते हुए कहा कि पीएम को ऐसा राजनीतिक भाषण संसद में देना चाहिये था जिससे वहां सरकार की जवाबदेही तय हो सके। साथ ही उनकी सरकार के अनेकों प्रकार के दावों की सत्यता को कसौटी पर परखा जा सके। लालकिले से भाषण देश को नई उम्मीद जगाने व नया विश्वास दिलाने के लिये होना चाहिए।

पढ़ें:- कांग्रेस- ये क्या देश संभालेंगे, झंडा रोहण में अमित शाह से बड़ी चूक, वीडियो वायरल 

मायावती ने पीएम के भाषण को राजनीतिक स्वार्थ के लिए इस्तेमाल करने का आरोप लगाया उन्होंने कहा कि लाल किले के भाषण को राजनीतिक स्वार्थ के लिए इस्तेमाल नहीं किया जाता तो बेहतर होता। लेकिन ऐसा लगता है कि भाजपा अपनी संकीर्ण व विद्वेष की राजनीति से ऊपर उठकर काम करने वाली नहीं है।

loading...

You may also like

अपने आशिक के साथ रहने पर अड़ी 6बच्चों की माँ

लोटन,सिद्धार्थनगर। लोटन कोतवाली क्षेत्र की एक गांव की