बीएसपी अध्यक्ष ने बागियों को दिया कड़ा सन्देश, तीन बड़े नेताओं को दिखाया बाहर का रास्ता

बीएसपी अध्यक्ष
Please Share This News To Other Peoples....

सीतापुर। बीएसपी अध्यक्ष मायावती का एक बार फिर कड़ा रुख देखने को मिला है। मायावती ने पार्टी के तीन बड़े नेताओं को बाहर का रास्ता दिखाया है। तीनो ही नेताओं पर पार्टी के विरोधी गतिविधियों में सम्मिलित होने का आरोप है। जिसको लेकर उन्हें पार्टी से निष्कासित कर दिया गया है। इस बात की पुष्टि सीतापुर के बसपा जिलाध्यक्ष विकास राजवंशी ने की है।

पढ़ें:- अब नहीं रहे मायावती के बेहद खास नेता, बसपा में शोक की लहर

बीएसपी अध्यक्ष मायावती की बड़ी कार्रवाई

सभी इस बात से वाकिफ़ हैं कि बीएसपी अध्यक्ष मायावती की किसी भी बड़े फैसले को लेने से बिलकुल हिचकती नहीं हैं ऐसा एक बार फिर देखने को मिला है। पार्टी से निष्कासित तीनो नेता पार्टी का बड़ा चेहरा थे जानकारी के मुताबिक बीएसपी की पूर्व सांसद कैसरजहां, पूर्व मंत्री रामहेत भारती व पूर्व विधायक जासमीर अंसारी को पार्टी से निष्कासित कर दिया गया है। तीनों नेताओं पर पार्टी विरोधी गतिविधियों में लिप्त होने का आरोप है। बसपा जिलाध्यक्ष विकास राजवंशी ने इसकी पुष्टि की है।

पढ़ें:- अखिलेश यादव कन्नौज तो मुलायम ​मैनपुरी से लड़ेंगे लोकसभा चुनाव

तीनो नेता पार्टी के थे बड़े चेहरे

बता दें कि निष्कासित रामहेत भारती हरगांव से तीन बार विधायक रहे हैं वह पार्टी के बड़े चेहरों में गिने जाते थे। भारती लगातार तीन चुनाव हारने के बाद वर्ष 2002 में भाजपा के पूर्व मंत्री दौलत राम को हराकर पहली बार विधायक बने थे। इसके बाद इन्होंने वर्ष 2007 व 2012 में हुए विधानसभा चुनाव में भी जीत हासिल की। पार्टी में मंडल कोआर्डिनेटर रहे भारती अनुसूचित जाति एवं जनजाति आयोग व किशोर कल्याण बोर्ड के सदस्य भी रहे हैं। वहीं वर्ष 2017 में उन्हें हार का सामना करना पड़ा।

सीतापुर लोकसभा सीट से सांसद रहीं कैसरजहां लहरपुर नगर पालिका से वर्ष 2005 में अध्यक्ष चुनी गईं। 2009 के लोकसभा चुनाव में बीएसपी के टिकट पर सांसद चुनी गईं। लेकिन साल 2014 में हुए लोकसभा चुनाव में उन्हें भाजपा के राजेश वर्मा के हाथों हार झेलनी पड़ी।

वहीं इसके अलावा लहरपुर से बसपा के पूर्व विधायक जासमीर अंसारी वर्ष 2000 में पहली बार नगर पालिका का चुनाव जीतकर सुर्खियों में आए थे। 2007 में पहली बार विधायक बने। इसके बाद वह 2012 में भी बसपा से दूसरी बार विधायक निर्वाचित हुए। बीते चुनाव में भाजपा प्रत्याशी सुनील वर्मा ने इन्हें हराकर जीत के सिलसिले को तोड़ा।

loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *