नौकरी के नाम पर लाखों की ठगी, चार लोगों के खिलाफ केस हुआ दर्ज

लखनऊ। पीजीआई थानाक्षेत्र के उतरेठिया में उद्यान प्लाजा के पास स्थित लॉयल टेक मैनेजमेंट सर्विसेज प्राइवेट लिमिटेड के संचालकों पर नौकरी के नाम पर आठ लोगों से लाखों रुपये ठगने का आरोप लगाया है तथा प्राथमिकी दर्ज कराई गई है।

प्रभारी निरीक्षक रवींद्र नाथ राय ने बताया कि सोनभद्र के बीजपुर स्थित सिरसोती गांव निवासी शांति देवी की तरफ से कंपनी के संचालकों समेत चार लोगों के खिलाफ केस दर्ज कर जांच की जा रही है। प्रभारी निरीक्षक ने बताया कि शांति देवी ने करीब डेढ़ साल पहले लॉयल टेक कंपनी के संचालक वीरेंद्र कुमार वर्मा, तीरथराज पटेल, अनिल पटेल और नीरज मौर्या से संपर्क किया था।

ये भी पढ़े :-केंद्रीय मंत्री ने दिया बयान, कहा – सामान्य श्रेणी में गरीबों के लिए दस फीसदी आरक्षण न्यायिक समीक्षा में सफल रहेगा 

चारों ने प्रदेश के विभिन्न जनपदों में स्थित आईटीआई कॉलेजों में वॉचमैन, चपरासी व अन्य पदों पर नौकरी का झांसा दिया। शांति देवी को उनके घर के एक किलोमीटर दूर ही तैनाती देने की बात कही थी। नौकरी के एवज में ठगों ने प्रत्येक आवेदक से डेढ़-डेढ़ लाख रुपये भी मांगे।

ये भी पढ़े :-केवल 20 मिनट में अमौसी एयरपोर्ट स्टेशन पहुंची लखनऊ मेट्रो 

रामअवध गुप्ता व कमलेश कुमार ने ठग कंपनी के अकाउंट में उपरोक्त रकम जमा कराई। शांति देवी का कहना है कि उन्होंने ठगों को साढ़े पांच लाख रुपये नकद व करीब एक लाख रुपये बैंक खाते में जमा कराए। रुपया लेकर ठगों ने 15 दिन बाद नियुक्तिपत्र लेने के लिए ऑफिस बुलाया।

सभी को अलग-अलग जगहों के फर्जी नियुक्तिपत्र दिए गए। नियुक्ति के लिए संबंधित जगह पहुंचने पर फर्जीवाड़े का खुलासा हुआ। पीड़ितों ने ठग कंपनी के संचालकों से मिलकर अपना रुपया वापस मांगा तो एक महीने का वक्त मांगा गया। दबाव डालने पर ठगों ने जानमाल की धमकी देते हुए भगा दिया। पीड़ितों की तरफ से केस दर्ज कर जांच की जा रही है।

Loading...
loading...

You may also like

कर्मयोगी और अनन्य राष्ट्रभक्त थे मनोहर पर्रिकर: डॉक्टर चन्द्रेश

🔊 Listen This News सिद्धार्थनगर। महान कर्मयोगी और