मिशन 2019 : प्रधानमंत्री कल मुलायम के गढ़ से करेंगे पूर्वांचल एक्सप्रेस-वे का शिलान्यास

मिशन 2019मिशन 2019

आजमगढ़। जैसे-जैसे मिशन 2019 नजदीक आ रहा है वैसे-वैसे सभी दल अपनी सियासी तैयारियों में लग गये हैं। इसी क्रम में मिशन 2019 के मद्देनजर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी कल आजमगढ़ में पूर्वांचल एक्सप्रेस वे का शिलान्यास करेंगे।

ये भी पढ़ें:पीएम मोदी के कार्यक्रम में हुआ धमाका, सुरक्षाकर्मियों में मचा हडक़ंप

पूर्वी यूपी के विकास की लाइफ लाइन है परियोजना

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ आजमगढ़ में प्रधानमंत्री के आने से पहले ही मंदुरी हवाई पट्टी पर आकर इस परियोजना को पूर्वी उत्तर प्रदेश के विकास की लाइफ लाइन होने की बात कह चुके हैं। पूर्वांचल एक्सप्रेस का शिलान्यास के दौरान पीएम मोदी पूर्वांचल के साथ बुंदेलखंड तक के विकास का रोडमैप भी पेश करेंगे। यह एक्सप्रेस-वे गाजीपुर के हैदरिया से लखनऊ के चांदसराय तक बनेगा। इसकी लम्बाई 340.824 किमी है।

सीधे दिल्ली से जुड़ जायेगा पूर्वांचल

छह लेन के इस पूर्वांचल एक्सप्रेस-वे के बनने से उत्तर प्रदेश का पूर्वी क्षेत्र राजधानी लखनऊ व आगरा एक्सप्रेस-वे से देश की राजधानी दिल्ली से जुड़ जाएगा। पीएम के आने से पहले मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने यहां का दौरा किया और कहा कि यह प्रदेश ही नहीं देश का सबसे बड़ा यह एक्सप्रेस वे होगा।

सीएम ने सपा को लिया आड़े हाथों

इस दौरान उन्होंने पूर्वांचल एक्सप्रेस वे का विरोध कर रहे समाजवादी पार्टी को भी आड़े हाथों लिया। योगी ने सपा के सभी तर्कों को सिरे से खारिज करते हुए कहा कि इस परियोजना को लेकर समाजवादी पार्टी ने नियमत: कुछ नहीं किया।

सियासी गलियारे में तेज़ हुई जंग

बहरहाल, राजनीतिक के गलियारे में इसको लेकर जंग जारी रहेगी पर इतना तय माना जा रहा है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी समाजवादी पार्टी के गढ़ तथा सपा मुखिया मुलायम सिंह यादव के संसदीय क्षेत्र से पूर्वी उत्तर प्रदेश को साधने की पूरी कोशिश करेंगे। मिशन 2019 यानी लोकसभा चुनाव की फिजा अपनी पार्टी के पक्ष में बनाने लिए और ढेर सारी सौगात दे सकते हैं। इसमें मुख्य रूप से शामिल होगा, आजमगढ़ से रीजनल हवाई सेवा शुरू करना।

ये भी पढ़ें:-हामिद अंसारी ने किया शशि थरूर के हिन्दू पाकिस्तान वाले बयान का समर्थन 

जनता ने लगा रखी हैं काफी उम्मीदें

अफसरों की माने तो पूर्वांचल एक्सप्रेस वे के शिलान्यास के अलावा और कोई बड़ी परियोजना शिलान्यास, लोकार्पण व घोषणा की सूची में नहीं है पर इससे कोई इंकार नहीं कर रहा है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की इच्छा सवरेपरि होगी। इधर आजमगढ़ की लगभग पचास लाख की आबादी को पीएम का बेसब्री से इंतजार है। साथ ही उन्होंने पीएम से और भी बहुत सारी उम्मीदें लगा रखी हैं।

जनसभा को भी संबोधित करेंगे पीएम

अब देखना यह है की प्रधानमंत्री उनकी उम्मीदों पर कितना खरे उतरते हैं। सबसे बड़ी बात है कि प्रधानमंत्री बनने के बाद नरेंद्र मोदी पहली बार यहां आ रहे हैं। लगभग डेढ घंटे के इस कार्यक्रम में शिलान्यास के साथ ही प्रधानमंत्री जनसभा को भी संबोधित करेंगे। जनसभा में हाईकमान के निर्देश के क्रम में लगभग एक लाख से अधिक भीड़ जुटाने के लिए पदाधिकारियों को पहले से निर्देश दिए जा चुके हैं। इस जुगत में आजमगढ़ ही नहीं आसपास के जिलों के पदाधिकारियों को निर्देशित किया गया है। दूसरी तरफ पब्लिक को उम्मीद है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पूर्वी उत्तर प्रदेश को पूर्वांचल एक्सप्रेस वे के अलावा आजमगढ वाया वाराणसी ट्रेन सेवा, विश्वविद्यालय आदि की मांग भी पूरी करेंगे।

 

loading...

You may also like

पीएम को चोर करने पर भड़के सीएम योगी, कहा- राहुल और कांग्रेस देश से मांगे माफ़ी

गोरखपुर। राफेल डील को लेकर फ्रांस के पूर्व राष्ट्रपति