मॉब लिंचिंग की घटनाएं दुर्भाग्यपूर्ण, कानून-व्यवस्था राज्यों का विषय : राजनाथ

मॉब लिंचिंग
Please Share This News To Other Peoples....

नई दिल्ली। संसद के मानसून सत्र मे गुरुवार को केंद्रीय गृह मंत्री राजनाथ सिंह ने कहा कि देश में भीड़ द्वारा पीट-पीट कर हत्या (मॉब लिंचिंग) करने के मामले दुर्भाग्यपूर्ण हैं। उन्होंने कहा कि ऐसी घटनाओं पर रोक लगाने के लिये सरकार प्रभावी कार्रवाई कर रही है। इस पर रोकथाम के लिए सोशल मीडिया सेवा प्रदाताओं से भी फर्जी समाचार पर रोक लगाने की व्यवस्था करने को कहा गया है।

कांग्रेस के केसी वेणुगोपाल ने मॉब लिंचिंग की घटनाओं का समर्थन करने का आरोप लगाया

लोकसभा में गुरुवार को शून्यकाल के दौरान कांग्रेस के केसी वेणुगोपाल ने भीड़ द्वारा पीट-पीट कर हत्या (मॉब लिंचिंग) करने के बढ़ते मामलों को उठाया। वेणुगोपाल ने असहमति के स्वर को दबाने का विषय उठाया और सरकार से जुड़े लोगों पर  मॉब लिंचिंग  की घटनाओं का समर्थन करने का आरोप लगाया।

ये भी पढ़ें :-राहुल ने बोला मोदी पर बड़ा हमला, बोले बीजेपी सच्चाई छिपाने में करती है विश्वास

मॉब लिंचिंग की घटनाएं चिंता का विषय

इस पर सिंह ने कहा कि यह सचाई है कि कई प्रदेशों में मॉब लिंचिंग की घटनाएं घटी हैं। इसमें कई लोगों की जानें भी गई है, लेकिन ऐसी बात नहीं है कि मॉब लिंचिंग की घटनाएं विगत कुछ वर्षों में ही हुई हैं। पहले भी ऐसी घटनाएं हुई हैं,लेकिन ऐसी घटनाएं चिंता का विषय हैं। उन्होंने कहा कि मॉब लिंचिंग में लोग मारे गए हैं, हत्या हुई और लोग घायल हुए हैं, जो किसी भी सरकार के लिये सही नहीं है। उन्होंने कहा कि हम ऐसी घटनाओं की पूरी तरह से निंदा करते हैं। गृह मंत्री ने कहा कि ऐसी घटनाएं अफवाह फैलने, फेक न्यूज और अपुष्ट खबरों के फैलने के कारण घटती हैं। ऐसे में राज्य सरकारों की जिम्मेदारी है कि वे प्रभावी कार्रवाई करें क्योंकि कानून और व्यवस्था राज्यों का विषय है। सिंह ने कहा कि ऐसे मामलों में केंद्र सरकार भी चुप नहीं है। इससे पहले भी साल 2016 में परामर्श जारी किया था और जुलाई के पहले सप्ताह में भी परामर्श जारी किया गया है।

सोशल मीडिया सेवा प्रदाताओं से अपनी प्रणाली में फर्जी समाचार पर रोक लगाने की व्यवस्था करने को कहा

उन्होंने कहा कि सोशल मीडिया पर फेक न्यूज के बारे में हमने सोशल मीडिया सेवा प्रदाताओं से अपनी प्रणाली में फर्जी समाचार पर रोक लगाने की व्यवस्था करने को कहा है। उन्होंने कहा कि हम ऐसी दुर्भाग्यपूर्ण घटनाओं के बारे में संबंधित राज्यों के मुख्यमंत्रियों से सीधे सम्पर्क में रहते हैं और जो भी अपराधी है। उन्होंने कहा कि  उन पर सख्त कार्रवाई होनी चाहिए। सिंह के जवाब से असंतुष्ट कांग्रेस सदस्यों ने सदन से वाकआउट किया। इससे पहले भीड़ द्वारा हत्या के विषय को उठाते हुए वेणुगोपाल ने कहा कि संविधान में सभी को समान अधिकार दिया गया है,लेकिन राजनीतिक विरोधियों पर हमले हो रहे हैं, असहमति के स्वर को दबाने का प्रयास हो रहा है। उन्होंने मॉब लिंचिंग पर रोक लगाने के लिये कानून बनाने की मांग की ।

कांग्रेस ने आरोप लगाया कि मदर टेरेसा से जुड़ी मिशनरिज आफ चैरिटी को भी बनाया जा रहा है निशाना

कांग्रेस सदस्य ने कहा कि बातचीत और चर्चा स्वस्थ लोकतंत्र की पहचान है। हाल ही में केंद्रीय मंत्री सुषमा स्वराज को भी सोशल मीडिया पर आलोचना की स्थिति का सामना करना पड़ा। उन्होंने कहा कि वह सरकार से आग्रह करते हैं कि सरकार देश में लोकतांत्रिक वातावरण सुनिश्चित करे। उन्होंने कहा कि कुछ ही दिन पहले स्वामी अग्निवेश पर भी झारखंड में हमला किया गया। वेणुगोपाल ने कहा कि क्या देश में इस तरह का शासन है ? उन्होंने आरोप लगाया कि सरकार के लोग ऐसी घटनाओं का समर्थन कर रहे हैं। कांग्रेस ने आरोप लगाया कि मदर टेरेसा से जुड़ी मिशनरिज आफ चैरिटी को भी निशाना बनाया जा रहा है। इसमें सरकार से जुड़ी एजेंसियां शामिल हैं।

 

loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *