मोबाइल नंबर पोर्ट करने की सुविधा हुई आसान, 72 घंटों में बदल जायेगा ऑपरेटर

- in Tech/Gadgets
Mobile number portability

नईदिल्ली। भारत के दूरसंचार नियामक प्राधिकरण (TRAI) मोबाइल यूजर्स के लिए लाया है एक बड़ी खुशखबरी। जी हां ये खबर उन यूजर्स के लिए है। जो लोग अपने पुराने नंबर को बदलना नहीं चाहते लेकिन वो उस नंबर को किसी ओर ऑपरेटर में बदलने के इच्छुक हैं यानि मोबाइल नंबर पोर्ट की सुविधा को पहले से ज्यादा बेहतर बनाने के लिए ये कदम उठाया है।
यूजर्स को अब नंबर की पोर्टेबिलिटी कराना जल्द ही आसान हो जाएगा। 

ये भी पढ़ें:- Truecaller ने पेश किया नया फीचर, प्रैंक कॉल्स होंगे मिनटों में रिकॉर्ड 

TRAI ने पोर्टेबिलिटी में बदलाव से जुड़ा मसौदा नियमन आज जारी कर दिया है। इस नियम के तहत टेलीकॉम कंपनियों के लिए पोर्टेबिलिटी की सुविधा को निर्धारित 72 घंटों में अंजाम देना होगा। इतना ही नहीं बल्कि फ़िज़ूल आधारों पर नंबर पोर्ट कराने के आवेदन को अस्वीकार करने पर टेलीकॉम कंपनियों पर 10,000 रुपये तक का जुर्माना लगेगा। 

फ़िज़ूल कारणों के कारण आवेदन निरस्त करने पर कंपनियों को भरना पड़ सकता है जुर्माना

इसके लागू होने पर टेलीकॉम कंपनियों के लिए पोर्टेबिलिटी की सुविधा को निर्धारित 72 घंटों में अंजाम देना होगा। साथ ही बेतुके आधारों पर मोबाइल नंबर पोर्ट कराने के आवेदन को अस्वीकार करने पर टेलीकॉम कंपनियों पर दस हज़ार रुपये तक का जुर्माना लगेगा।

ये भी पढ़ें:- फेसबुक ट्रिक्स: इन आसान तरीकों से अब आप कर पाएंगे फेक आईडी की पहचान 

TRAI ने पोर्टेबिलिटी की सुविधा से जुड़े नियम 23 सितंबर, 2009 को जारी किए थे। फिलहाल इसमें सुधार कर आम जनता के लिए इस सुविधा और व्यवस्था को बेहतर करने का प्रयास नियामक द्वारा संशोधन के जरिए किया जा रहा है। विभिन्न हिस्सेदारों से विचार-विमर्श के बाद ट्राई ने सुझावों और टिप्पणियों के आधार पर संशोधन का मसौदा तैयार किया गया है और अब सार्वजनिक सुझाव मांगे हैं।

ये भी पढ़ें:- अपने YouTube चैनल की मदद से करें लाखों की कमाई, अपनाएं ये आसान तरीके 

इसमें पोर्टेबिलिटी आवेदक पहले 24 घंटे तक आवेदन को वापस लेने की छूट उपभोक्ता को मुहैया करायी गई है। हालांकि आवेदन किये जाने के 72 घंटों में टेलीकॉम कंपनी को मोबाइल नंबर पोर्ट करना होगा। इसके अलावा किसी भी हाल में अगर यह पाया गया कि Service Providerद्वारा फ़िज़ूल के कारणों से आवेदन को निरस्त किया गया है तो TRAI उन मोबाइल कंपनियों पर 10 हजार रुपये तक का जुर्माना भी लगा सकती है।

loading...
Loading...

You may also like

आखिर क्यों पहले बढ़ाएं, फिर घटा दिए इस बेहतरीन फ़ोन के दाम,

पड़ोसी देश चीन की सबसे बड़ी स्मार्टफोन कंपनी