अवैध संबंध में बेटा बन रहा था रोड़ा, मां सुपारी देकर करवा दी हत्या

अवैध संबंधअवैध संबंध

लखनऊ। यूपी के जिला गौतमबुद्धनगर से मां की ममता को शर्मसार करने वाली खबर सामने आयी है। यहां पुलिस ने एक महिला को अपने ही बेटे की हत्या करवाने के आरोप में गिरफ्तार किया है। सबसे चौंकाने वाली बात तो यह है कि हत्या अवैध संबंध के कारण करवायी गयी है। इस मामले में एक महिला समेत 5 लोगों को गिरफ्तार किया गया है।

पढ़ें:- युवक ने धर्म छुपाकर बनाया महिला से प्रेम संबंध, शादी टूटने पर मारी दी गोली 

अवैध संबंध में बेटा बन रहा था रोड़ा

जानकारी के मुताबिक ये मामला गौतमबुद्धनगर के दादरी का है। जहां पर मृतक अंशुल अपनी मां के साथ रहता था। जिसकी हत्या का आरोप उसकी मां पर लगा है। पिछले 18 जून को दादरी के कोट गांव पुल के पास अंशुल की लाश मिली थी। उसकी हत्या गला रेत कर की गयी थी। पुलिस ने इस मामले में जाँच शुरू की तो उसे हत्या की वजह नहीं मिल पा रही थी।

अंशुल की किसी से दुश्मनी नहीं थी और लूटपाट भी नहीं हुई थी। पुलिस को ये बात परेशान कर रही थी कि अंशुल को मारकर किसे फायदा मिलेगा? इस बीच पुलिस को अंशुल की मां के अवैध संबंध के बारे में पता चला पुलिस ने इसे आधार बनाकर जांच शुरू कर दी। जिसके बाद एक-एक करके सारे पत्ते खुलने लगे।

पढ़ें:- कल्पेश याज्ञिक की मृत्यु हार्ट अटैक नहीं छत से गिरने पर हुई : मध्य प्रदेश पुलिस 

अंशुल की हत्या के लिए 35 हजार की सुपारी

पुलिस को पता चला कि अंशुल के घर पास के मंदिर के पुजारी के साथ उसकी मां के अवैध संबंध बन गए थे। ये बात धीरे-धीरे पूरे गांव को पता चल गयी थी। अंशुल को जब इसके बारे में पता लगा तो उसने अपनी मां को समझाने की कोशिश की लेकिन उसकी मां नहीं मानी। जिससे दोनों के बीच अक्सर झगड़ा हुआ करता था। पुलिस के मुताबिक जब बेटा मां के रास्ते का रोड़ा बनने लगा तो मां ने अपने बेटे को रास्ते से हटाने की साजिश रच डाली।

पढ़ें:- आलमबाग हाईटेक बस अड्डे में भ्रष्टाचार का खेल, पहली ही बारिश में टपकने लगी छत 

पुलिस के मुताबिक इसके लिए उसने मंदिर के पुजारी से बात की और साथ में अपने दामादा अमित को भी मिला लिया। फिर सबने मिलकर अंशुल की हत्या की 35 हजार रुपये की सुपारी दे दी। इसके बाद 18 जून को भाड़े के हत्यारों ने अंशुल की गला रेत के हत्या कर दी। पुलिस ने जब महिला और पुजारी को हिरासत में लेकर पूछताछ की तो दोनों ने अपना जुर्म कबूल कर लिया। इसके बाद पुलिस ने अमित और उसके दो साथियों को भी गिरफ्तार कर लिया।

loading...
Loading...

You may also like

एसएसबी 43वी वाहिनी ने मनाया पुलिस शहीद दिवस।

सिद्धार्थनगर। वर्ष 1959 को आज ही के दिन भारत