मैनपुरी हादसे के घायलों से मिले मुलायम सिंह यादव, सपा विधायक राजू यादव ने दिखाई इंसानियत

मुलायम सिंह यादव
Please Share This News To Other Peoples....

मैनपुरी। मैनपुरी की भूमी को सपा मुखिया मुलायम सिंह यादव की कर्मस्थली माना जाता है। सपा मुखिया मुलायम सिंह यादव को जैसे ही पता चला कि कीरतपुर के पास हुए सड़क हादसे में 18 लोगों की जान चली गई है वह तुरंत मैनपुरी की ओर दौड़ पड़े। पोस्टमार्टम हाउस पहुंच कर मुलायम सिंह ने मृतकों के पीड़ित परिवारों को ढांढस बंधाया। इसके बाद वह जिला अस्पताल के आपातकालीन विभाग में भर्ती सभी घायलों से मिलने जा पहूँचे। मुखिया मुलायम सिंह ने घायलों से उनका हाल चाल लिया और उनके शीघ्र स्वस्थ होने की मनोकामना भी की।

सपा विधायक राजू यादव है गरीबों के मसीहा 

सपा के सदर विधायक उर्फ राजू यादव उर्फ राजकुमार को यूँ ही गरीबों का मसीहा नहीं कहा जाता। आज लोगों की भीड़ ने यह द्रश्य अपनी आंखों से देख भी लिया। कीरतपुर हादसे में 18 लोगों की जान चली गई और 3 दर्जन के करीब लोग घायल हुए है। हादसे की सूचना मिलते ही सपा विधायक भागते भागते पोस्टमार्टम हाउस जा पहुंचे घायलों को भर्ती कराया।

विधायक राजू यादव ने मरीजों का पल-पल का हालचाल लिया। वह पीड़ित परिवारों सेे लगातार उनका दुख बाटते रहे। पोस्टमार्टम हाउस पर मौजूद हजारों की भीड़ को भी जलपान कराने में उनकी एहम भूमिका रही। इसके साथ ही उन्होंने अपने खुदके वाहनों को लोगों की मदद के लिए फ्री छोड़ दिया। मौके पर किशनी सपा विधायक बृजेश कठेरिया, पूर्व मंत्री आलोक शाक्य भी मौजूद थेे।

सपा के कार्यकर्ताओं ने दिया इंसानियत का परिचय

प्रदेश में फिलाल भाजपा की सरकार मौजूद है, पर अभी भी मैनपुरी से सपा के 3 विधायक हैं। भाजपा का केवल एक मात्र विधायक भोगांव से है। पोस्टमार्टम हाउस पर हर ओर दुख का माहौल छाया हुआ था मगर सैकड़ों की संख्या में स्थल पर मौजूद सपा कार्यकर्ता पूरी दम के साथ सभी लोगों की मदद करने में जुटे हुए थे। पोस्टमार्टम हाउस पर सपा कार्यकर्ताओं ने सुबह से लेकर शाम के 4 बजे तक पीड़ित परिवारों की मदद की और उनकी देखभाल की।

पोस्टमार्टम हाउस छावनी में हुआ तबदील, महिला पुलिस कर्मी  ने महिलाओं को दी सानभूति 

देखा जाए तो जिला अस्पताल का पोस्टमार्टम हाउस छावनी में ही तब्दील हो गया। बस पलटने के कारणे हुए हादसे के बाद हर ओर रोना चिलाना मचा हुआ था। पोस्टमार्टम हाउस पर हर तरफ लाशें ही लाशें नज़र आ रही थीं। डीएम प्रदीप कुमार, पुलिस अधीक्षक अजय शंकर राय, एएसपी ओमप्रकाश सिंह सहित अन्य थानों की पुलिस को पोस्टमार्टम हाउस पर तैनात कर दिया था। महिला पुलिस कर्मी भी पीड़ित परिवार की महिलाओं के साथ बनी हुई है। महिला पुलिस कर्मियों ने भी अपनी सची लगन से मानवता का परिचय दिया।

मृतकों के नाम

चंद्रकिशोर, रिहान, मोहर्रम मस्तान हसमुद्दीन बल्ली, वारिस, मुस्तकीम, जहांगीर, सहसबाज, मोहम्मद अकील, शाहरूख, मोहम्मद आजाद, प्रदीप, ज्ञानेन्द्र, डिंपी।

घायलों के नाम

मुकुल (22), चरन सिंह(58), मुन्नी देवी (45),नंदन (15), रिजवान (23), मुकुल (22), आदिल 18, कुंदन (19), हरीकृष्ण(37), सुनीता(23), रचना मिश्रा (30), तजीर (25), मु. हसन (27), रघुराज सिंह(35), अफरोज(50), इरशाद(22), फरोज (15),जमील(32),शकील (20), रेशमा(18), रोहित(46), राजा (65)।

यह भी ज़रूर पढ़ें:72 साल की वृद्धा की दिनदहाड़े हत्या, घर में हुई लूटपाट

Related posts:

प्रदेश के 13 अपर पुलिस अधीक्षकों का तबादला
दशमोत्तर छात्रवृत्ति, शुल्क प्रतिपूर्ति योजना 2017-18 
चेतावनी : इस ग़लती से हो सकता है आपका बैंक अकाउंट हैक...
डीजीपी ने दिया निर्देश, भत्तों का निस्तारण जल्द किया जाए...
एयरपोर्ट के सामने नो स्टॉप ज़ोन पर खड़ी होती हैं कारें, लगता है जाम...
मायावती के इस ऐलान से उड़ जाएगी मोदी-शाह की नींद
सपा नेता ने कहा- मैं मुस्लिम हूँ, इसलिए मुझे फंसा रहे हैं सीएम योगी
पीएम के नेपाल दौरे को लेकर डीएम व एसपी ने इंडोनेपाल बार्डर का किया निरीक्षण
बंगाल पंचायत चुनाव: पुनर्मतदान में भी हिंसा से एक की मौत, BJP प्रत्याशी लापता
70 की उम्र में महिला प्रेग्नेंट, सोनोग्राफी रिपोर्ट्स देख डॉक्टर्स भी हैरान
जज्बे को सलाम : 70 साल के सीताराम ने खोद डाला कुआं, बने मिशाल
बिहार महागठबंधन: कांग्रेस 8 सीटें भी लेने को तैयार, बस राजद को माननी पड़ेगीं ये शर्तें

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *