मुन्ना बजरंगी हत्याकांड: हाईकोर्ट ने ख़ारिज की सीबीआई जांच की याचिका  

मुन्ना बजरंगीमुन्ना बजरंगी

लखनऊ। पूर्वांचल के कुख्यात डॉन मुन्ना बजरंगी की हत्या से पूरे प्रदेश में हड़कंप मचा हुआ है। वहीं मुन्ना बजरंगी की पत्नी ने पुलिस की जांच पर भरोसा न जताते हुए सीबीआई जांच की याचिका हाई कोर्ट में दाखिल की थी जिसे कोर्ट ने खारिज कर दी है।

बागपत जेल में सोमवार को की गयी थी हत्या

गौरतलब है कि यूपी के बागपत में जेल में कुख्यात अपराधी मुन्ना बजरंगी की सोमवार को हत्या कर दी गयी थी। मुन्ना को सोमवार को कोर्ट में पेश किया जाना था और इसीलिए उसे झांसी से बागपत लाया गया था। बीएसपी के पूर्व विधायक लोकेश दीक्षित से रंगदारी मांगने के मामले में बागपत कोर्ट में मुन्ना की पेशी होनी थी। इस मामले में मुन्ना बजरंगी की पत्नी सीमा सिंह ने केंद्रीय रेलमंत्री मनोज सिन्हा और पूर्व सांसद धनंजय सिंह समेत कई बड़े नेताओं पर उसके पति मुन्ना की हत्या की साजिश रचने का आरोप लगाया था।

ये भी पढ़ें:-सुनील राठी के खुलासे से मचा हड़कंप, बतायी मुन्ना की हत्या के पीछे की असली वजह 

पत्नी ने बीजेपी नेताओं पर लगाया हत्या का आरोप

सीमा ने कहा था कि पूर्व सांसद धनंजय सिंह के साथ ही मनोज सिन्हा और पूर्व विधायक कृष्णानंद राय की पत्नी अलका राय ने कई लोगों के साथ मिलकर उसके पति की हत्या का षड्यंत्र रचा। इधर पुलिस महानिदेशक ओपी सिंह ने कहा कि मुन्ना बजरंगी की सुरक्षा में पुलिस से कोई चूक नहीं हुई। सिंह का कहना है कि झांसी जेल से बागपत जेल भेजने के दौरान यूपी पुलिस की तरफ से सुरक्षा व्यवस्था में कोई कोताही नहीं बरती गयी। इधर घटना की गंभीरता से लेते हुए सीएम योगी आदित्यनाथ ने जांच के आदेश दे दिए हैं। इस मामले में जेलर समेत 4 जेल अधिकारियों को तत्काल प्रभाव से निलम्बित कर दिया गया है।

डीजीपी बोले, सुरक्षा में नहीं हुई कोई चूक

बतातें चलें कि बजरंगी की सोमवार सुबह बागपत जेल में एक अन्य कैदी सुनील राठी ने गोली मारकर हत्या कर दी थी। डीजीपी ने कहा कि झांसी से बागपत तक बजरंगी को ले जाने में करीब 12 घंटे का समय लगा था। डीजीपी ने  बताया कि इस दौरान पुलिस की कड़ी सुरक्षा व्यवस्था का घेरा उसके इर्द-गिर्द था। उन्होंने कहा कि मुन्ना बजरंगी को सुरक्षित बागपत जेल पहुंचा दिया गया था।

ये भी पढ़ें:-मुन्ना बजरंगी की सुरक्षा में नहीं हुई कोई चूक : डीजीपी 

 

पत्नी ने जताई थी हत्या की आशंका

आपको बता दें कि इसके पहले भी मुन्ना बजरंगी की पत्नी ने प्रेस कांफ्रेंस करके मुन्ना की हत्या की आशंका जता चुकी थीं।  उन्होंने मीडिया से बातचीत में कहा था कि पुलिस, एसटीएफ और कुछ नेता उसके पति की हत्या की साजिश रच रहे हैं। मुन्ना की पत्नी ने बताया कि इसके पहले झांसी जेल में भी उन पर जानलेवा हमला हो चुका है।

पत्नी सीमा ने की थी सीबीआई जांच की मांग

बीजेपी नेताओं पर हत्या का आरोप लगते हुए मुन्ना बजरंगी की पत्नी ने कहा कि उन्हें यूपी पुलिस पर भरोसा नहीं अत: इस हत्याकांड की जांच सीबीआई से कराई जाये इसके लिए सीमा ने हाईकोर्ट में याचिका भी दायर की थी जिसे कोर्ट ने आज ख़ारिज कर दिया है। इस मामले में पुलिस उपमहानिरीक्षक प्रवीण कुमार ने मीडिया को बताया कि जिला जेल के अंदर से 762 बोर के हथियार के 10 खोखे और कुछ कारतूस मिले हैं। उन्होंने कहा कि मामले की जेल प्रशासन, मजिस्ट्रेटी जांच और न्यायिक जांच चल रही है। जेल प्रशासन ने मामले में प्राथमिकी दर्ज कराई है।

ये भी पढ़ें:-मुन्ना बजरंगी की पत्नी ने बीजेपी नेताओं पर लगाया हत्या करवाने का आरोप, पिस्टल बरामद 

बजरंगी पर दर्ज थे 40 मुकदमे

आपको बता दें कि माफिया डॉन मुन्ना बजरंगी उर्फ प्रेम प्रकाश सिंह (51) को भाजपा विधायक लोकेश दीक्षित से पिछले साल रंगदारी मांगे जाने के मामले में कल स्थानीय अदालत में पेशी के लिये झांसी कारागार से बागपत जेल लाया गया था। बजरंगी पर हत्या, लूट, अपहरण समेत अनेक जघन्य अपराधों के करीब 40 मुकदमे दर्ज थे। वह तत्कालीन  की हत्या के मामले में भी आरोपी था।

 

loading...
Loading...

You may also like

महिलाओं के खिलाफ हो रहे भेदभाव से देश का विकास प्रभावित- UNICEF

 नई दिल्ली। UNICEF के अनुसार भारत में महिलाओं