शरद पूर्णिमा एवं मीराबाई जयंती के उपलक्ष्य में आयोजित होगी नमोस्तुते माँ गोमती महाआरती

Loading...

लखनऊ। वाल्मीकि जयंती की पूर्व संध्या पर आज लखनऊ के डालीगंज स्थित “मनकामेश्वर मठ-मंदिर” की ओर से दो दिवसीय स्वच्छता कार्यक्रम का आरम्भ मनकामेश्वर उपवन घाट पर किया गया, इस अवसर पर नाविक समाज एवं स्थानीय महिलाओं व पुरुषों ने मिलकर उपवन घाट एवं गोमती की सफाई की, दिन में 1 बजे से प्रारंभ हुआ  ये स्वछता अभियान सायं 5 बजे तक चला। कार्यक्रम के अंतर्गत सबसे पहले सम्पूर्ण घाट एवं घाट से जुड़े हुए बड़े भू-भाग को साफ किया गया उसके बाद नाविकों  एवं स्वच्छता के सारथी स्थानीय नागरिकों ने गोमती से कई प्रकार का अपशिष्ट निकाला “जिसमे पॉलीथिन, जलकुंभी व अन्य प्रमुख़ हैं।

कार्यक्रम के दूसरे भाग में इस कार्य में अपना श्रमदान देनें वाले नाविकों एवं अपने सम्पूर्ण जीवन में स्वछता को  मूलाधार मान स्वछता के लिए कार्य करने वाली  वाल्मीकि समाज की महिलाओं का सम्मान मनकामेश्वर मठ-मंदिर की श्रीमहन्त देव्या गिरि ने किया। सम्मानित किए जाने वाले नाविक हैं राजकुमार, सुन्दर लाल कश्यप, रोहित, गोपाल, दयालु, इन्दर, विवेक, सचिन, रामचन्द्र, बच्चा, हरिश्चंद्र, रामेश्वर, सुरेश एवं बंसीलाल।”  वही वाल्मीकि समाज रेखा वाल्मीकि, रजनी वाल्मीकि, सावित्री वाल्मीकि को सम्मानित किया गया।

यह भी पढ़ें..आज है शरद पूर्णिमा, इसी दिन होती है कोजागरी लक्खी पूजा और कोजागरा पूजा, जानें महत्व

रविवार को शरद पूर्णिमा एवं मीराबाई जयंती के अति मांगलिक अवसर पर “मनकामेश्वर मठ-मंदिर एवं नमोस्तुते माँ गोमती” मनकामेश्वर उपवन घाट पर सायं 6 बजे से 11 आचार्यों की उपस्थिति व मठ-मंदिर की श्रीमहन्त देव्यागिरि के सानिध्य में “आदि माँ गोमती महाआरती” का आयोजन किया जाएगा, इस अवसर पर स्थानीय कलाकारों द्वारा मुख्यमंच से “मीराबाई” स्वरांजलि अर्पित कि जाएगी।

यह भी पढ़ें..शरद पूर्णिमा पर रात को पृ्थ्वी पर विचरण करती हैं मां लक्ष्मी, रात भर जागकर करें ये काम

Loading...
loading...

You may also like

दिवाली पर अलग उपायों को करने से बढ़ने लगती है आमदनी, इस बार जरूर अपनाएं

Loading... 🔊 Listen This News दिवाली के दिन