नासा एल. आर. ओ. कैमरा ने खोज निकाला चंद्रयान 2 विक्रम लेंडर

Nasa find vikram lander
Loading...

नासा की लोनार रीको नाइसेंस ऑर्बिटर कैमरे (LRO)  ने 3 दिसंबर को सुबह-सुबह चंद्रयान 2 विक्रम लेंडर के कुछ टुकड़े को चंद्रमा की सतह पर खोज निकाला है। यह chandrayaan-2 भारत के द्वारा 7 सितंबर को चंद्रमा की सतह में भेजा गया था।

अपने स्टेटमेंट में नासा ने कहा “विक्रम लेंडर फाउंडेड।”

nasa tweet

नासा ने अपने ट्विटर अकाउंट पर विक्रम लैंडर की जानकारी शेयर करते हुए, चंद्रमा की सतह की एक इमेज शेयर की जिसमें नीले रंग के डॉट से विक्रम लेंडर को दिखाया गया है। साथ ही इस इमेज में हरे रंग की डॉट्स chandrayaan-2 स्पेसक्राफ्ट के टूटे हुए टुकड़े हैं।

नासा के द्वारा जारी किए गए इमेज में ‘S’ साइन स्पेसक्राफ्ट के उन टुकड़ों को बताता है जो शानमुगा सुब्रमनियन के द्वारा आईडेंटिफाई किए गए है। नासा के द्वारा जारी किए गए इस पिक्चर का यह मतलब भी है कि भारत द्वारा लांच किए गए chandrayaan-2  विक्रम लेंडर अभी भी चंद्रमा की सतह पर मौजूद है। इसका मतलब इस मिशन को 98% सफलता हासिल हुई है।

नासा के द्वारा अभी लिए गए इमेज और पुराने इमेज के बीच तुलना की जा रही है। ताकि विक्रम लेंडर की स्थिति और उसकी कार्यक्षमता को और ज्यादा समझा जा सके। नासा के द्वारा जारी किया गया यह इमेज एक तरह से इसरो के लिए उपलब्धि का सबूत है।

Loading...
loading...

You may also like

नागरिकता कानून : हिंसा स्वीकार नहीं, प्रदर्शन शांतिपूर्ण होना चाहिए : केजरीवाल

Loading... 🔊 Listen This News नई दिल्ली। नागरिकता