65वें राष्ट्रीय फिल्म पुरस्कार से पहले विवाद, 120 विजेताओं ने किया बहिष्कार का ऐलान

65वें राष्ट्रीय फिल्म पुरस्कार65वें राष्ट्रीय फिल्म पुरस्कार

नई दिल्ली 65वें राष्ट्रीय फिल्म पुरस्कार (65th National Film Awards) शुरू होने से पहले ही विवादों में आ गया है।  गुरुवार शाम 5.30 बजे राष्ट्रपति राम नाथ कोविंद विज्ञान भवन में केवल 11 विजेताओं को सम्मानित करेंगे।  इससे पहले राष्ट्रीय फिल्म पुरस्कार प्राप्त करने वाले 120 से अधिक लोगों ने कहा कि वे  शाम को आयोजित होने वाले समारोह में शामिल नहीं होंगे। इसकी वजह यह है कि राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद केवल 11 लोगों को पुरस्कार प्रदान करेंगे। बाकी लोगों को सूचना एवं प्रसारण मंत्री स्मृति ईरानी पुरस्कार देंगी।

65वें राष्ट्रीय फिल्म पुरस्कार शुरू होने से पहले ही विवाद, 68 विजेताओं ने अवॉर्ड लेने से किया इंकार

जानकारी के अनुसार, 131 में से 120 विजेताओं ने फिल्म फेस्ट‍िवल के एडि‍शनल डायरेक्टर जनरल चैतन्य प्रसाद और राष्ट्रपति कार्यालय को लिखा है कि वे अवॉर्ड सेरेमनी में भाग नहींं लेंगे। 120विजेताओं ने बैठक कर 65वें राष्ट्रीय फिल्म पुरस्कार  लेने से इंकार कर दिया है। राष्ट्रीय फिल्म पुरस्कार प्राप्त करने वाले  विजेताओं के रिएक्शन अब आने  शुरू हो गए हैं।  सिंगर साशा तिरुपति ने कहा है कि वे इस सरकार के इस फैसले से अपमानित महसूस कर रही हैं। तिरुपति उन विजेताओं में हैं जिन्हें राष्ट्रपति राम नाथ कोविंद के हाथों सम्मान नहीं मिलेगा।  साशा ने कहा कि पुरस्कार का पूरा रोमांच ही खत्म हो गया है।  65वें नेशनल फिल्म अवार्ड्स समारोह में 137 विजेताओं को सम्मानित किया जाएगा।  लेकिन अब कुछ लोगों में ही इस पुरस्कार को लेकर उत्साह बचा है।  साशा को मणिरत्नम निर्देशित फिल्म ‘कातरू वेलियेदई’ के सॉन्ग ‘वान वरुवान’ के लिए यह पुरस्कार दिए जाने की घोषणा हुई थी।  इसी फिल्म के लिए एआर  रहमान को भी राष्ट्रीय पुरस्कार से नवाजा जाएगा।

ये भी पढ़ें ;-आरएसएस कार्यकर्ता बोला : जिन्ना की तस्वीर हटाओ, भारतीय की तस्वीर लगाने पर एक लाख का इनाम 

राम नाथ कोविंद के प्रेस सचिव ने प्रोटोकाल का हवाला देकर दी सफाई ,सवाल उठाने से राष्ट्रपति भवन आश्चर्यचकित

राष्ट्रपति के प्रेस सचिव अशोक मलिक ने कहा कि यह प्रोटोकाल राष्ट्रपति के पदभार ग्रहण करने के समय से ही चला आ रहा है।  इस बारे में सूचना और प्रसारण मंत्रालय को कई सप्ताह पहले ही अवगत करा दिया गया था और मंत्रालय को इसकी जानकारी थी ।  उन्होंने कहा कि अंतिम समय में इस तरह से सवाल उठाने से राष्ट्रपति भवन आश्चर्यचकित है।

1954 से चली आ रही परम्परा के टूटने से विजेता हुए मायूस

बतातें चलें कि  साल 1954 से देश के राष्ट्रपति विजेताओं को सम्मानित करते आ रहे हैं।  लेकिन बुधवार शाम अवॉर्ड शो के रिहर्सल के दौरान खबर सामने आई कि राष्ट्रपति सिर्फ 11 लोगों को अवॉर्ड प्रदान करेंगे।  बाकि सभी को यह पुरस्‍कार सूचना प्रसारण मंत्री स्‍मृति ईरानी, सूचना प्रसारण (राज्‍य मंत्री) राज्‍यवर्धन सिंह राठौर और सूचना प्रसारण सेक्रेटरी नरेंद्र कुमार सिन्‍हा देंगे।  यह खबर सुनते ही कई पुरस्‍कार पाने वाले भड़क गए और इसका बहिष्कार करने का ऐलान कर दिया।

13 अप्रैल को हुई थी 65वें राष्ट्रीय फिल्म पुरस्कारों की घोषणा

65वें राष्ट्रीय फिल्म पुरस्कार की घोषणा 13 अप्रैल को हुई थी।  दिवंगत अभिनेत्री श्रीदेवी को फिल्म ‘मॉम’ के लिए सर्वश्रेष्‍ठ अभिनेत्री का अवॉर्ड दिया जाएगा।  श्रीदेवी के एवज में यह अवॉर्ड पाने के लिए उनके पति बोनी कपूर दोनों बेटियों जाह्नवी और खुशी कपूर के साथ दिल्ली पहुंच चुके हैं।  बुधवार को पुरस्कार के रिहर्सल के दौरान बोनी, जाह्नवी और खुशी कपूर विज्ञान भवन में मौजूद रहे।

 

loading...
Loading...

You may also like

फाजिल्का: कार सवार ने 2 पुलिसकर्मी पर चढ़ाई गाड़ी, 1 की मौत

फाजिल्का।  मलोट रोड पर गाँव मुलेया वाली के