MP चुनाव: Exit poll ने बढाई धडकनें, शिवराज ने जताई प्रतिक्रिया

शिवराज सिंह


मध्यप्रदेश। पांच राज्यों के विधानसभा चुनाव के बाद आए निर्गम मतानुमान (Exit poll) आने के बाद मध्यप्रदेश (MP) के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने अपनी प्रतिक्रिया देते हुए कहा कि वे हर समय जनता के बीच रहते हैं और उन्हें प्रदेश में भारतीय जनता पार्टी (BJP) के सरकार बनाने का पूरा विश्वास है। आपको बता दें कि कई एग्जिट पोल मध्य प्रदेश में बीजेपी के मौजूद सरकार जाने की संभवाना जताई गई है।

चौहान ने पत्रकारों से बताचीत के दौरान एग्जिट पोल पर प्रतिक्रिया देते हुए कहा कि वे हर समय जनता के बीच घूमते रहते हैं। उन्हें भाजपा के प्रदेश में बहुमत से सरकार बनाने का पूरा विश्वास है। पांच राज्यों में विधानसभा चुनाव शुक्रवार को संपन्न होने के बाद शुक्रवार को विभिन्न चैनलों एवं सर्वेक्षण एजेंसियों के निर्गम मतानुमान (Exit poll) में कांग्रेस की राजस्थान में वापसी की संभावना नजर आ रही है जबकि MPऔर छत्तीसगढ़ में भाजपा का पलड़ा भारी प्रतीत हो रहा है लेकिन कांग्रेस इन दोनों राज्यों में भी टक्कर में बनी हुई है। पांचों राज्यों में 11 दिसंबर को मतगणना के बाद असली तस्वीर साफ होगी।

एग्जिट पोल ने बढाई धडकनें

MP व छत्तीसगढ़ में नई सरकार बनाने के मुद्दे पर निर्गम मतानुमान (Exit poll) बंटे हुए हैं। कुछ भाजपा की दोनों राज्यों में वापसी बता रहे है, जबकि कुछ कांग्रेस को सत्ता मिलती बता रहे हैं। कुछ ऐसे भी हैं जो दोनों दलों को स्पष्ट बहुमत से कुछ दूर बता रहे हैं, जिसमें छोटे दलों की भूमिका बढ़ सकती है। अगर किसी को बहुमत नहीं मिलता है तो मध्य प्रदेश में बसपा और छत्तीसगढ़ में बसपा व अजीत जोगी का गठबंधन नई सरकार में निर्णायक हो सकता है। राहत की बात है कि कुछ निर्गम मतानुमान (Exit poll) के मुताबिक, राजस्थान की तरह डेढ़ दशक के शासन के बाद भी ये राज्य उससे पूरी तरह खिसक नहीं रहे हैं। उसकी दोनों राज्यों में सरकार फिर से बन भी सकती है।

Exit Polls में बीजेपी की सरकार पर संकट, पूर्ण बहुमत के साथ कांग्रेस की वापसी 

राजस्थान का निर्गम मतानुमान (Exit poll) अभी तक के आम अनुमानों की तरह ही हैं और राज्य में हर बार चुनाव में सत्ता परिवर्तन का 25 साल पुराना ट्रेंड कायम रह सकता है। राजस्थान में शुरुआत से ही कांग्रेस को बढ़त मानी जा रही थी और एक्जिट पोल भी उसी का संकेत दे रहे हैं। कांग्रेस ने भी राजस्थान में सबसे ज्यादा दांव लगाया था। जहां MP में कांग्रेस के भावी सीएम पद के दावेदार चुनाव नहीं लड़े, वहीं राजस्थान में उसने दोनों दावेदारों को चुनाव लड़ाया और उसका लाभ मिलता भी दिख रहा है।

loading...
Loading...

You may also like

विधानसभा नतीजे: तेलंगाना में कांग्रेस ने EVM से छेड़छाड़ की जताई आशंका

हैदराबाद। तेलंगाना में सत्तारूढ़तेलंगाना राष्ट्र समिति (TRS) राज्य