मायावती के खिलाफ मोदी सरकार बड़ी चाल, दलितों को खुश करने की रणनीति तैयार

दलितोंदलितों

लखनऊ। यूपी में दलितों के वोट बैंक को हासिल करने बीजेपी सरकार ने बड़ा प्लान बना है। इसे मायवती के खिलाफ दलितों के वोट को काटने के की रणनीति माना जा रहा है। जानकारी के मुताबिक एससी-एसटी एक्ट में बदलाव से नाराज दलित वर्ग को साधने के लिए पीएम नरेंद्र मोदी मुख्य भूमिका निभाएंगे। इसके लिए पीएम मोदी 11 अप्रैल को मुद्रा योजना से लाभान्वित होने वाले दलित बिरादरी के एक समूह से सीधा संवाद करने वाले हैं। इसके अलावा बाबा भीमराव अंबेडकर की जयंती पर उनके जन्म स्थान को राष्ट्र को समर्पित किया जाएगा।

पढ़ें:- योगी के विधायक पर रेप का आरोप लगाने वाली युवती के पिता की मौत 

दलितों को खुश करने के लिए मोदी सरकार की बड़ी रणनीति

लोकसभा चुनाव में यूपी की अहम भूमिका रहने वाली है। वहीं दलितों में मोदी सरकार के खिलाफ दिखाई पड़ रहा है। वहीं सरकार में मौजूद के दलित समुदाय से आने वाले सांसद भी सरकार के प्रति नाराजगी जता चुके हैं। बताया जा रहा है कि सरकार ने इस समस्या से निपटने के लिए पार्टी के सांसद और वरिष्ठ नेता दलित बस्तियों में जाने का फैसला किया है। बता दें कि शनिवार को यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ को पीएम नरेंद्र मोदी ने दलित वर्ग की नाराजगी दूर करने के लिए ठोस कदम उठाने का निर्देश दिया है। इसके अलावा दलित सांसदों की शिकायतें दूर करने की भी योजना तैयार की गई है।

पढ़ें:- नाना पाटेकर नहीं चाहते नरेंद्र मोदी बने पीएम, ये विपक्षी नेता है उनकी पसंद 

साथ में ये भी कहा जा रहा है कि अंबेडकर जयंती यानी 14 अप्रैल से 5 मई तक चलने वाले ग्राम स्वराज अभियान के तहत बीजेपी सांसद और वरिष्ठ नेता दलित बस्तियों में दो रात रुक कर इस समुदाय से सीधा संवाद करेंगे। पार्टी के एक वरिष्ठ नेता ने बताया है कि दलित समुदाय के सांसदों की बढ़ती नाराजगी से नेतृत्व सतर्क है। पार्टी के रणनीतिकारों का मानना है कि अगर अंदर से ही विरोध की आवाज उठेगी तो विपक्ष के दलितों के उत्पीड़न के आरोपों को ज्यादा बल मिलेगा। यही कारण है कि पार्टी ने अपने दलित सांसदों से सीधा संवाद करने और इनकी नाराजगी दूर करने की रणनीति बनाई है। इस रणनीति के तहत पीएम, बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह सहित कुछ वरिष्ठ नेता इन सांसदों से सीधा संवाद करेंगे।

loading...

You may also like

पर्रिकर की बीमारी के बीच भाजपा को लगा बड़ा झटका, हटाने पड़े दो मंत्री

नई दिल्ली। गोवा में भाजपा की मुश्किलें कम