अंसारुल्लाह आतंकी संगठन पर एनआईए ने कसा शिकंजा, तमिलनाडु में छापेमारी जारी

अंसारुल्लाह आतंकी संगठन पर एनआईए का शिकंजाअंसारुल्लाह आतंकी संगठन पर एनआईए का शिकंजा
Loading...

नई दिल्ली। राष्ट्रीय जांच एजेंसी (एनआईए) ने शनिवार को तमिलनाडु के विभिन्न स्थानों पर ‘अंसारुल्लाह’ आतंकी मॉड्यूल का पता लगाने के लिए छापे मारे हैं। यह छापेमारी चेन्नई, मदुरै, तिरुनेलवेली और रामनाथपुरम जिले में की जा रही है।

इससे पहले एनआईए की विशेष अदालत ने अंसारुल्लाह आतंकी संगठन चलाने वाले 16 आरोपियों को आठ दिन के लिए एनआईए की हिरासत में भेज दिया है। इस सभी लोगों पर आरोप है कि इन्होंने देश के अलग-अलग हिस्सों में हमले करने के लिए धन इकट्ठा किया था।

आनंदी बेन पटेल बनी यूपी की राज्यपाल, राम नाईक की विदाई 

सभी आरोपियों की दस दिन की हिरासत की मांग करते हुए एनआईए ने विशेष जघन्य अभियोजक (एसपीपी) से कहा कि आरोपियों से धन के स्रोत, उसके प्रसारण और उपयोग के लिए हो रही साजिश का पता लगाना जरूरी हो गया है। एसपीपी ने कहा कि पकड़े गए 16 आरोपियों में से सात यूएई की जेल में बंद थे। उन्हें 12 जुलाई को भारत भेज दिया गया था लेकिन अगले ही दिन गिरफ्तार कर लिया गया।

उन्होंने कहा कि यह गंभीर मामला है और हमारे देश की सुरक्षा से जुड़ा हुआ है। यह एक ऐसा मामला है, जिसकी किसी भी पुलिस एजेंसी द्वारा पहले जांच नहीं की गई है। इसलिए इन्हें हिरासत में लेना एक उचित जांच के लिए जरूरी है। उन्होंने कहा कि पकड़े गए आरोपियों ने एक समूह बनाया था, जिसे वहादत-ए-इस्लामी, जिहादी इस्लामिक यूनिट, जन्नत वहात-उल-इस्लाम-अल-जिहादिया और अंसारुल्लाह जैसे विभिन्न नामों से जाना जाता था। इस संगठन का मकसद हिंसा का सहारा लेकर भारत में इस्लामी शासन स्थापित करना था। यह संगठन आईएस और अल-कायदा का समर्थन भी करता है।

Loading...
loading...

You may also like

दिल्ली के सफदरजंग अस्पताल से उन्नाव पहुंचा दुष्कर्म पीड़िता का शव

Loading... 🔊 Listen This News उन्नाव। दुष्कर्म पीड़िता