नीतीश और जदयू ने नहीं किया योग, बीजेपी के साथ गठबंधन टूटने का पूर्ण संयोग

जदयूजदयू

पटना। 21 जून को अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस के मौके पर पूरी दुनिया में लोगों ने योगासन किया। वहीं पीएम मोदी ने देहरादून में करीब 50 हजार लोगों के साथ योग किया लेकिन बिहार में बीजेपी की सहयोगी जदयू ने इस बीच पार्टी की टेंशन बढ़ा दी है। इस मौके पर नीतीश कुमार की नाराजगी साफा देखने को मिली है। दरअसल बिहार में सत्ता की सहयोगी जदयू इस बार योग दिवस के आयोजन में शामिल नहीं हुई। जिसके बाद दोनों पार्टियों के गठबंधन में टूट के साफ़ आसार दिखाई पड़ रहे हैं।

पढ़ें:- गठबंधन में फूट: नीतीश और मोदी सरकार में ठनी, बीजेपी को बताया झूठा 

योग दिवस से बेरुखी पर टूट के प्रबल संयोग

जानकारी के मुताबिक बिहार की सत्ता में बीजेपी की सहयोगी जदयू ने योग दिवस के मौके पर इसके आयोजन से दूर रहने का फैसला किया था। इस वजह से प्रदेश की राजधानी पटना में आयोजित भव्य समारोह में न मुख्यमंत्री नीतीश कुमार पहुंचे और न ही जदयू का कोई नेता पहुंचा। दूसरी तरफ पटना के पाटलिपुत्र स्पोर्ट्स कॉम्प्लेक्स में स्वास्थ्य मंत्री मंगल पाण्डेय की ओर से आयोजित कार्यक्रम में केंद्रीय मंत्री रविशंकर प्रसाद, रामकृपाल यादव और राज्य के उपमुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी ने बीजेपी के तमाम नेताओं के साथ शिरकत की।

पढ़ें:- भाजपा के दिग्गज नेता की सभा में मचा हडकंप, लोगों ने लगाए लालू-राबड़ी जिंदाबाद के नारे 

जदयू की बेरुखी पर सुशील मोदी ने दी सफाई

वहीं योग दिवस के समारोह के बाद उपमुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी ने जदयू के नेताओं के शामिल न होने को लेकर सफाई देते हुए कहा कि योग दिवस समारोह में सीएम नीतीश कुमार या जदयू नेताओं के शामिल ना होने पर विवाद निरर्थक है। उन्होंने आगे कहा कि वह ऐसे एक दर्जन से अधिक लोगों को जानते हैं, जो जदयू की ओर से पटना में हुए समारोह में शामिल हुए हैं। क्या जदयू और राजद का कोई नेता योग नहीं करता होगा, लेकिन यह जरूरी नहीं है कि हर कोई योग दिवस के कार्यक्रम में शामिल हो।

loading...
Loading...

You may also like

सुप्रीम कोर्ट के इस फैसले से कांग्रेस पार्टी का झूठ बेनकाब: योगी

लखनऊ। उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने