लखनऊ विश्वविद्यालय के 16 पाठ्यक्रमों का नहीं खुला खाता, 38 में 10 से भी कम आवेदन

लखनऊ विश्वविद्यालय
Please Share This News To Other Peoples....
लखनऊ।  लखनऊ विश्वविद्यालय के पीजी डिप्लोमा पाठ्यक्रमों को छात्रों  का मोहभंग हो गया है। शुक्रवार तक करीब 16 पाठ्यक्रमों का खाता ही नहीं खुला है। इनमें एक भी आवेदन नहीं आए हैं। करीब 38 ऐसे डिप्लोमा पाठ्यक्रम हैं जिनमें आवेदनों की संख्या दहाई का आंकड़ा भी नहीं छू पाई है।

लखनऊ विश्वविद्यालय ने आवेदन की अन्तिम तिथि 31 जुलाई तक बढ़ाई

आवेदनों की खराब स्थिति को देखते हुए विश्वविद्यालय प्रशासन ने आवेदन की अन्तिम तिथि में विस्तार करने का फैसला लिया है। अभी तक यह आवेदन शुक्रवार तक लिए जाने थे लेकिन अब आगामी 31 जुलाई तक आवेदन किए जा सकेंगे। लखनऊ विश्वविद्यालय में करीब 50 एडऑन कोर्स हैं। पूर्व निर्धारित कार्यक्रम के तहत इनमें शुक्रवार तक आवेदन लिए जाने थे लेकिन, अन्तिम तिथि तक सिर्फ 285 आवेदन ही प्राप्त हुए हैं।  डिप्लोमा पाठ्यक्रमों की इस खराब स्थिति के लिए विश्वविद्यालय के बदले नियमों को जिम्मेदार माना जा रहा है।

छात्रों का कहना है कि एक साथ दो-दो पाठ्यक्रमों का पढ़ाई संभव नहीं

विश्वविद्यालय प्रशासन के सूत्रों की मानें तो, पिछले वर्षों तक यह डिप्लोमा पाठ्यक्रम सभी के लिए खुले हुए थे। कोई भी व्यक्ति चाहें वो विश्वविद्यालय का छात्र हो या न हो, इनमें दाखिला लेकर पढ़ाई कर सकता था ,लेकिन पिछले वर्ष से इसे एडऑन कोर्स में परिवर्तित कर दिया। यानी अब सिर्फ विश्वविद्यालय के छात्र ही दाखिला ले सकते हैं। वहीं, छात्रों का कहना है कि एक साथ दो-दो पाठ्यक्रमों का पढ़ाई संभव नहीं है। जिसके चलते आवेदन ही नहीं आ रहे हैं।  प्रवेश समन्वयक प्रो. अनिल मिश्र ने बताया कि शुक्रवार तक 285 के आसपास आवेदन आए हैं। इसलिए, आवेदन की अन्तिम तिथि में विस्तार कर दिया गया है। उम्मीद है आवेदनों की संख्या में सकारात्मक सुधार देखने को मिलेगा।

इन पाठ्यक्रमों में नहीं हुए एक भी आवेदन

पीजी डिप्लोमा इन एक्सप्रोरेशन, रिसोर्स एंड माइनिंग टेक्नोलॉजी, एडवांस डिप्लोमा फुड प्रोसेसिंग, एडवांस डिप्लोमा जर्मन, एडवांस डिप्लोमा रशियन, डिप्लोमा जर्मन, डिप्लोमा मराठी, डिप्लोमा मॉडर्न अरेबिक, डिप्लोमा रशियन, डिप्लोमा तमिल, पीजी डिप्लोमा इन गवर्नेंस एंड लीडरशिप डेवेलपमेंट, प्रोफिशियंसी कम्यूनिकेटिव हिंदी, प्रोफिशियंसी मराठी, प्रोफिशियंसी मॉडर्न अरेबिक, प्रोफिशियंसी मॉडर्न पर्शियन, प्रोफिशियंसी पाली, प्रोफिशियंसी सुगम हिंदी।

इन पाठ्यक्रमों में तो एक पर अटका गया आंकड़ा

डिप्लोमा फ्रेंच, पीजी डिप्लोमा एप्लाइड एथिक्स, पीजी डिप्लोमा मैनेजमेंट ऑफ एनजीओ,  प्रोफिशियंसीअरेबिक,  प्रोफिशियंसी जर्मन,  प्रोफिशियंसी रशियन,  प्रोफिशियंसी तमिल, पीजी डिप्लोमा इन क्वालिटी मैनेजमेंट ।
loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *