नहीं चेता बागपत जेल प्रशासन, फिर पकड़े गये मोबाइल

बागपत
Please Share This News To Other Peoples....

बागपत। अभी हाल ही में बागपत जेल में हुई मुन्ना बजरंगी की हत्या के बाद भी जेल प्रशासन नहीं चेता और स्थिति जस की तस बनी हुई है। कहने को तो बागपत जेल की सुरक्षा व्यवस्था कड़ी कर दी गयी है लेकिन हकीकत में ऐसा कुछ भी नहीं है। जिसका ज्वलंत उदाहरण है दो दिन पहले ही एक बार फिर जेल में दो कैदियों के पास से मोबाइल पकड़े जाना है।

ये भी पढ़ें:-लखनऊ: नीलांश वाटर पार्क गोमती नदी के पानी घोल रहा है जहर, सो रहा है प्रशासन 

कैदियों के परिजनों से की जा रही धनउगाही

बताया जा रहा है कि इन मोबाइलों से जेल से बाहर कैदियों के परिजनों को फोन पर बात कराकर धनउगाही करार्इ जा रही है। इस मामले पर जब वहां के जिलाधिकारी से बात की गयी तो उन्होंने इसे गंभीर मामला बताया और कहा इसकी जांच की जाएगी और ऐसा करने वाले जेल के कर्मचारियों के खिलाफ सख्त कार्यवाई की जाएगी।

हाल ही में इसी जेल में हुई थी मुन्ना बजरंगी की हत्या

गौरतलब है कि अभी हाल ही में बागपत जेल में बंद मुन्ना बजरंगी की गोली मार कर हत्या कर दी गयी थी। हत्या के बाद शासन प्रशासन बागपत जेल में नये जेलर की तैनाती तो कर गया लेकिन यह भूल गया कि इसकी जांच और छापेमारी निरंतर होनी जरूरी है। यहां 12 सुरक्षा कर्मी और एक जेलर की तैनाती के बाद भी फोन इस्तेमाल से लेकर कैदियों स परिजनों को मिलवाने के नाम पर जबरदस्त धनउगाही की जा रही है। रुपये मांगने का आरोप लग रहा है।

ये भी पढ़ें:-घर के बहर सों रहे परिवार को डम्पर ने रोंदा, 3 लोगों की मौत 

3 से लेकर 5 हजार रुपये तक की हो रही वसूली

सूत्रों की माने तो बागपत जेल में जेल सुरक्षा कर्मीयों ने कैदियों के पास से एक बार फिर दो मोबाइल बरामद किये है। इतना ही नहीं जेल से कैदियों के परिजनों को फोन कराकर उनसे तीन हजार से लेकर पांच हजार तक की रकम भी वसूली जा रही है। लेकिन जेल में बंद कई कैदियों के परिजनों से बात कर जब मामले की सत्यता का पता लगाने का प्रयास किया, तो मामला साफ हो गया।

एक कैदी के परिजन ने की मामले की पुष्टि

नाम न छापने की शर्त पर एक जेल में बंद आरोपित के परिजनों ने बताया कि उनके पास जेल से फोन आया था कि साढ़े तीन हजार रुपये लेकर जेल पर आ जाओ। यहां पर्ची काटी जा रही है। लेकिन यह पर्ची किस काम के लिए काटी जा रही है और रकम कहां जायेगी। फोन पर यह नहीं बताया गया, जब इस बाबत जेलर सुरेश बहादुर से बात की गयी, तो उन्होंने सभी आरोपों से साफ इंकार कर दिया।

ये भी पढ़ें:-कंपनी कर्मी ने खुद 9 लाख छिपाकर फैलाई लूट की अफवाह 

डीएम बोले, जेल में की जाएगी छापेमारी

इधर जेल में तैनात के एक सुरक्षा ने नाम न छापने की शर्त पर बताया कि जेल में फिर से सारे काम होने लगे हैं। जेल कर्मी की माने तो बिना आईडी के ही 500 रुपये लेकर मुलाकात तक करार्इ जा रही है। इन सब आरोपों को लेकर जिलाधिकारी बागपत ऋषिरेंद्र ने बात की गयी तो उन्होंने कहा हो सकता है ऐसा हो रहा हो। डीएम ने कहा जल्द ही जेल में छापेमारी की जायेगी और जेल की व्यवस्थाओं को देखा जायेगा।

 

loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *