यूपी के कैबिनेट मंत्री की मांग, हर जाति का व्यक्ति 6 महीने के लिए बने सीएम

कैबिनेट मंत्रीकैबिनेट मंत्री

लखनऊ। यूपी की राजनीति में अक्सर अपने बयानों को लेकर सुर्ख़ियों में रहने वाले कैबिनेट मंत्री ओम प्रकाश राजभर एक बार फिर बड़ा बयान दिया है। राजभर ने जातिवाद को लेकर बयान देते हुए कहा है कि देश में जाति आधारित राजनीति एक जमीनी हकीकत है और इससे किसी भी तरह से इंकार नहीं किया जा सकता है। उन्होंने कहा कि हर जाति के व्यक्ति को सत्ता में आने और सीएम बनने का मौका मिलना चाहिए। बता दें कि ये बयान राजभर ने केशव प्रसाद मौर्य की बजाय योगी आदित्यनाथ को सीएम बनाए जाने के अपने बयान पर दिया है।

पढ़ें:- लता मंगेशकर ने बताया अमित शाह से न मिलने वजह 

कैबिनेट मंत्री ओमप्रकाश राजभर का पूरा बयान

बता दें कि इलाहाबाद में यूपी के कैबिनेट मंत्री ओमप्रकाश राजभर से पत्रकारों ने पूछा कि क्या वह योगी आदित्यनाथ को मुख्यमंत्री के तौर पर नहीं देखना चाहते हैं? इसके जवाब में राजभर ने कहा कि वे सभी को सीएम बनते हुए देखना चाहते हैं। उन्होंने कहा कि अगर 6 महीने के लिए बसपा अध्यक्ष मायावती सीएम बन सकती हैं। तब छह-छह महीने के लिए सभी जातियों के नेताओं को मुख्यमंत्री बना दिया जाए तो इसमें गलत क्या है?

वहीं मजाकिया अंदाज में हंसते हुए राजभर ने आगे कहा कि ऐसे में पांच साल में 10 लोग सीएम बन जाएंगे। उन्होंने कहा है कि उनकी पार्टी का सिद्धान्त है कि जब उनकी पार्टी की सरकार बनेगी तो छह-छह महीने में एक व्यक्ति को सीएम बनने का मौका मिलेगा।

पढ़ें:- सुप्रीम कोर्ट ने JDU के बागी नेता शरद यादव के वेतन-भत्ते पर लगाई रोक

जातिवाद पर राजभर बोले

वहीं जातिवाद पर कैबिनेट मंत्री ने बोलते हुए कहा कि यूपी में जातिवाद को नकारा नहीं जा सकता है। उन्होंने उदाहरण देते हुए कहा कि तहसीलों में तहसीदार मुहर लगाकर जाति प्रमाण पत्र जारी करता है। सरकारी नौकरियों में भी पूछा जाता है कि आप किस जाति के हो. तो जातिवाद को कैसे नकारा जा सकता है।

राजभर बस यहीं नहीं रुके उन्होंने आगे कहा कि इस प्रदेश में सभी राजनीतिक दल टिकट बांटते हैं तो जाति पूछकर दिया जाता है। मंत्री भी जाति के कोटे के आधार पर बनाये जाते हैं। उन्होंने एक बार फिर कहा कि प्रदेश बीजेपी का चुनाव केशव प्रसाद मौर्या को आगे कर लड़ा गया था। जिससे उनकी कम्युनिटी के लोगों के उनके नाम पर बीजेपी को वोट भी किया। लेकिन उन्हें डिप्टी सीएम का पद देकर सरकार को संतुलित करने की कोशिश भर की गई है।

Loading...
loading...

You may also like

NDR REPORT : नयी लोकसभा में 475 सांसद करोड़पति

🔊 Listen This News नयी दिल्ली। एसोसिएशन ऑफ