राफेल डील पर BJP का पलटवार- UPA के दौरान वाड्रा के लिए रक्षा हितों से किया समझौता

राफेल डील

नई दिल्ली। राफेल डील को लेकर भाजपा और कांग्रेस बीच घमासान जारी है। इस मुद्दे पर अब भाजपा ने कांग्रेस पर हमला बोलते हुए इस डील को लेकर पूर्व यूपीए सरकार में सोनिया गांधी के दामाद रॉबर्ट वाड्रा को फायदा पहुंचाने का आरोप लगाया है। राफेल डील के मुद्दे पर केंद्रीय मंत्री गजेंद्र सिंह शेखावत ने मंगलवार को प्रेस कांफ्रेंस कर कहा कि पूर्व UPA सरकार के दौरान राबर्ट वाड्रा के मित्र संजय भंडारी की कंपनी और उससे जुड़े वाड्रा के व्यावसायिक हितों के चलते देश के रक्षा हितों से समझौता किया गया।

राफेल डील UPA की डील से लगभग 20% सस्ती : भाजपा

केंद्रीय मंत्री गजेंद्र सिंह शेखावत ने कहा कि देश ने वर्त्तमान में राफेल डील जो की है वो UPA की डील से लगभग 20% सस्ती है। उन्होंने कहा कि कांग्रेस सिर्फ राजनीति के लिए राफेल डील को मुद्दा बनाने का प्रयास कर रही है। वित्त मंत्री अरुण जेटली ने कुछ दिनों पहले कांग्रेस और राहुल गांधी से कुछ सवाल पूछे थे। आज तक जवाब नहीं मिला है।

वहीं राहुल गांधी के कीमत ज्यादा होने वाले आरोप पर शेखावत ने कहा कि राहुल गांधी एक अनलोडेड एयरक्राफ्ट के कीमत की तुलना फुल लोडेड एयरक्राफ्ट से करके पिछले कई दिनों से देश को गुमराह करने का काम कर रहे हैं।

पढ़ें:- प्रकाश जावड़ेकर ने कहा- दिशाहीन राहुल गांधी की बौखलाहट सामने आ रही है

राफेल डील को कैंसिल करने की हो रही है साजिश: शेखावत

इस दौरान शेखावत ने कांग्रेस पर राफेल डील को कैंसिल करने की साजिश का आरोप लगाते हुए कहा कि राफेल डील को कैंसिल करने के लिए जो षड्‍यंत्र रचा जा रहा है। वायु सेना के मनोबल को कम करने के लिए जो षड्‍यंत्र रचा जा रहा है। इन सबके पीछे का एक ही कारण है और वो है मोदी जी को हटाना। उन्होंने आरोप लगाया कि कांग्रेस मोदी जी को हटाने के लिए दुनिया और देश विरोधी ताकतों से मदद ले रही है।

UPA के दौरान वाड्रा के लिए रक्षा हितों से किया समझौता

शेखावत ने कहा कि तत्कालीन UPA सरकार के दौरान राबर्ट वाड्रा के मित्र संजय भंडारी की कंपनी और उससे जुड़े वाड्रा के व्यावसायिक हितों के चलते देश के रक्षा हितों से समझौता किया गया। उन्होंने कहा कि राफेल की खरीद में कांग्रेस सरकार संजय भंडारी और रॉबर्ट वाड्रा की कंपनी को बिचौलिए के तौर पर इस्तेमाल करना चाहती थी। लेकिन जब ये हो ना सका तो कांग्रेस सरकार ने डील को रद्द कर दिया। इसीलिए आज कांग्रेस इस डील को खत्म करवाने की कोशिश करके उसका बदला लेना चाहती है।

loading...
Loading...

You may also like

उत्तर प्रदेश शिक्षक भर्ती की रेस से होंगे बाहर 67,000 आवेदक

इलाहाबाद। उत्तर प्रदेश के सहायता प्राप्त माध्यमिक विद्यालयों