बड़ा मंगल पर्व के अवसर पर मंदिरों में श्रद्धालओं का लगा रहा ताता

- in Main Slider, फैशन/शैली
बड़ा मंगल
Loading...

वरिष्ठ संवाददाता

लखनऊ। उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ में एकता का प्रतीक ज्येष्ठ माह का पहला बड़ा मंगल पूरी श्रद्धा और विश्वास के साथ मनाया गया। ज्येष्ठ मास के पहले दिन बड़ा मंगल पर्व के अवसर पर आज सुबह से ही मंदिरों में श्रद्धालओं का ताता लगा रहा। बड़ा मंगल के पहले दिन लखनऊ के अलीगंज क्षेत्र में स्थित हनुमान मंदिर में श्रद्धालु तड़के तीन बजे से लाइन में खड़े थे।  घंटा घडियालों के गगन भेदी जयकारों के बीच जैसे ही मंदिर का द्वार खुला श्रद्धालु हनुमान जी के दर्शन के लिये उमड़ पड़े। बड़े मंगल के मौके पर पूरा शहर भक्तिमय दिखा। मंदिरों में विशेष पूज-अर्चना की गयी।

ये भी पढ़ें :-सोशल मीडिया से विवादित ट्विट किया डिलीट, ओबेरॉय ने मांगी माफी 

लखनऊ में आज पहले बड़े मंगल की धूम हर जगह देखने को मिली। शहर भर में हर दस कदम पर भंडारा, प्याउ के पंडालों लगे थे जहां लोगों की भारी भीड़ देखने को मिली। तो वही इस मौके पर हजरतगंज स्थित दक्षिण मुखी हनुमान मंदिर में भी भंडारे का आयोजन किया गया जिसमें सब लोगों ने साथ मिलकर प्रसाद वितरण किया। आपको बताते चलें कि लखनऊ में जेठ माह के हर मंगलवार को शहरभर में भंडारों का आयोजन किया जाता है। लखनऊ शायद ऐसा एकमात्र शहर हैं जहां जेठ के सभी मंगलवार को सैकड़ों भंडारे के पंडाल लगते हैं।

ये भी पढ़ें :-अनुपम खेर ने विवेक ओबेरॉय को लगाई फरकार, कहा – ये स्वाद खराब है 

इस भंडारे की खास बात यह है कि यहां आपको सिर्फ पूड़ी सब्जी ही नहीं बल्कि हर तरह के व्यंजन खाने को मिलता है। तरह-तरह के व्यंजनों से लोगों को दिनभर प्रसाद के रूप में खाना खाने को मिलता है। प्रसाद में कढ़ी चावल, दाल चावल, राजमा चावल, पूड़ी सब्जी, रायता, कोल्ड ड्रिंक, छोला चावल, शर्बत, आम, तरबूज, आईसक्रीम, बूंदी के लड्डू, रायता सहित कई तरह के पेय पदार्थ पूरे शहर में वितरित किये जाते हैं। लखनऊ में बड़े मंगल की खास बात यह है कि इस दिन लगने वाले पंडाल में सिर्फ गरीब या काम करने वाले ही नहीं आते बल्कि बड़े-बड़े घरों के लोग भी खाने के लिए इन पंडालों में पर इकट्ठा होते हैं। तकरीबन हर घर के लोगों को पंडाल के खाने का इंतजार रहता है। इस दिन लोग पंडाल में ही खाना पसंद करते हैं। मंगल के भंडारे के लिए रात से ही तैयारियां शुरू हो जाती है। देर रात से ही तैयारी शुरू हो जाती है। लोग रात में पंडाल लगाकर खाना बनाने की तैयारी शुरू कर देते हैं।

 

Loading...
loading...

You may also like

कोटा के सांसद ओम बिड़ला बने लोकसभा स्पीकर, सभी दलों ने किया समर्थन

Loading... 🔊 Listen This News नई दिल्ली। प्रधानमंत्री