Main Sliderउत्तर प्रदेशउत्तराखंडख़ास खबरराजनीतिराष्ट्रीयस्वास्थ्य

कोरोना की दवा ईजाद करने के दावे से पलटी पतंजलि, मीडिया पर फोड़ा ठीकरा

देहरादून। कोरोना की दवा बनाने के दावे के हफ़्ते भर के अंदर ही बाबा रामदेव और आचार्य बालकृष्ण की दिव्य योग फ़ार्मेसी अपने दावे से पलट गई है। बाबा रामदेव और आचार्य बालकृष्ण के कोरोना की दवा ‘कोरोनिल’ खोज लेने के दावे के बाद देश भर में हड़कंप मच गया था।

केंद्र सरकार ने दिव्य योग फ़ार्मेसी और राज्य सरकार से इस मामले में सफ़ाई मांगी थी। उत्तराखंड के आयुष विभाग ने दिव्य योग फ़ार्मेसी को नोटिस जारी कर स्पष्टीकरण मांगा था जिसका जवाब फ़ार्मेसी ने दे दिया है। सूत्रों के अनुसार दिव्य योग फ़ार्मेसी ने सभी आरोपों से पल्ला झाड़ते हुए कह दिया है कि उसने कभी कोरोना की दवा बनाने का दावा किया ही नहीं।

मीडिया ने किया भ्रामक प्रचार

बताया जा रहा है कि दिव्य योग फ़ार्मेसी ने कहा है कि पैकिंग कवर पर ‘कोरोना किट’ नहीं लिखा गया है. लेवल पर कोरोना वायरस की तस्वीर बनाने से भी इनकार कर दिया गया है। फ़ार्मेसी ने मीडिया पर इससे संबंधित भ्रामक प्रचार का दोष मढ़ा है।

आयुष विभाग दिव्य योग फ़ार्मेसी के जवाब पर मंथन कर रहा है। आयुष सचिव ने ड्रग कंट्रोलर को फ़ाइल समेत अपने ऑफिस बुलाया है। आयुष मंत्री हरक सिंह रावत ने इस मामले से कन्नी काटते हुए कहा कि सचिव के साथ बैठक करने के बाद ही कुछ कहेंगे।

loading...
Loading...