PGI : अपनी मांगों को लेकर चतुर्थ श्रेणी कर्मचारियों का हंगामा…

PGI
Please Share This News To Other Peoples....

 लखनऊ। आज दिनांक 2 जनवरी 2018 को समय 10:30 बजे सुबह से PGI  के प्रशासनिक भवन के बरामदे मे चतुर्थ श्रेणी कर्मचारियों की भीड़ जुटना शुरू हो गयी थी।  लगभग 11:00 बजे तक 200 कर्मचारी चतुर्थ श्रेणी के मौजूद हुए और सब ने सहमति जताई कि आज अपर निदेशक और निर्देशक का चतुर्थ श्रेणी कर्मचारियों की मांगों पर घेराव करना है

PGI प्रशासन के खिलाफ खूब नारेबाजी की गई…

    • चतुर्थ श्रेणी कर्मचारियों ने अपर निदेशक महोदय से मिलने के लिए गए लेकिन सुबह 11:30 बजे मुलाकात नहीं हो पाई
    • इसलिए चतुर्थ श्रेणी कर्मचारी एसजीपीजीआई कर्मचारी महासंघ के नेतृत्व में गेस्ट हाउस के हो रही बैठक का घेराव करने के लिए निकल पड़े
    •  वहां पहुंचकर के गेस्ट हाउस पीजीआई में PGI प्रशासन के खिलाफ खूब नारेबाजी की गई
    •  क्योंकि 1997 से एम्स की समतुल्यता पीजीआई में लागू हुई
    •  जिसमें चतुर्थ श्रेणी कर्मचारियों का पद नाम एम्स के समतुल्यता के आधार पर नहीं रखा गया है
    • लगातार 20 वर्षों से संघर्ष किया जा रहा है कोई PGI प्रशासन सुनने वाला नहीं है
    • तत्काल निदेशक महोदय ने पुलिस की व्यवस्था की शांत करवाने के लिए लेकिन कर्मचारियों ने उनकी एक न सुनी
    • गर्मागर्मी माहौल में अपर निदेशक के साथ मेडिकल सुपरिटेंडेंट संयुक्त निदेशक मुख्य प्रशासनिक अधिकारी एक साथ बैठक में समय 4:00 बजे सम्मिलित हुए
    • जिसमें चतुर्थ श्रेणी कर्मचारियों के पद और ग्रेड पर बढ़ाने के लिए बात की गई

पीजीआई प्रशासन ने 15 जनवरी तक समस्याओं के निस्तारण का वादा किया…

    • पीजीआई प्रशासन ने दिनांक 15 जनवरी तक समस्याओं का निस्तारण करने की वादा किया
    • आज मुख्य रुप से सतीश कुमार मिश्र अध्यक्ष PGI कर्मचारी महासंघ महामंत्री राम कुमार सिन्हा कोषाध्यक्ष रामलखन मौजूद रहे
    •  इनके अलावा उमेश श्रीवास्तव भगवती प्रसाद भीम सिंह अन्य बहुत से गणमान्य नेता मौजूद रहे
    • सबने एकमत होकर के चतुर्थ श्रेणी का प्रमोशन और ग्रेड पर बढ़ाने की मांग पीजीआई प्रशासन के सामने रखी
    • लगभग सभी संपर्कों में एम्स की समतुल्यता लागू हो चुकी है
    • लेकिन इस एम्स की समतुल्यता वाली लाभ से चतुर्थ श्रेणी कर्मचारी 25 सालों से शोषित हैं
loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *