Main Sliderओड़ीशाख़ास खबरपश्चिम बंगालराजनीतिराष्ट्रीय

पीएम मोदी बंगाल, ओडिशा के मुख्यमंत्रियों के साथ राहत एवं पुनर्वास के उपायों पर चर्चा

नयी दिल्ली।  प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी भीषण चक्रवाती तूफान ‘अम्फान’ के कारण उत्पन्न हुई स्थिति का जायजा लेने के लिए शुक्रवार सुबह पश्चिम बंगाल और ओडिशा के दौरे पर रवाना हो गये।

श्री मोदी दोनों राज्यों के मुख्यमंत्रियों के साथ राहत एवं पुनर्वास के उपायों पर चर्चा करेंगे।

वह पूर्वाह्न लगभग 10:45 बजे कोलकाता पहुंचेंगे और मुख्यमंत्री ममता बनर्जी के साथ राज्य का हवाई सर्वेक्षण करेंगे। दोनों नेता बशीरहाट में अपराह्न में एक प्रशासनिक बैठक को भी संबोधित करेंगे जिसके बाद श्री मोदी भुवनेश्वर के लिए रवाना हो जाएंगे।

श्री मोदी ने गुरुवार को ट्वीट कर कहा, “ पश्चिम बंगाल में तूफान के कारण हुई तबाही का दृश्य देखा है। इस चुनौतीपूर्ण समय में समूचा राष्ट्र पश्चिम बंगाल के साथ एकजुटता के साथ खड़ा है। राज्य के लोगों के कल्याण और भलाई की कामना करता हूं। प्रभावित क्षेत्रों में स्थिति सामान्य करने के भरसक प्रयास किये जा रहे हैं। ”

उन्होंने कहा , “ राष्ट्रीय आपदा मोचन बल की टीमें प्रभावित क्षेत्रों में काम कर रही हैं। उच्च अधिकारी भी स्थिति पर नजर बनाये हुए हैं। वे पश्चिम बंगाल सरकार के साथ तालमेल कर रहे हैं। प्रभावित लोगों की मदद के लिए कोई कोर कसर नहीं छोड़ी जायेगी।”

पश्चिम बंगाल सरकार ने तटबंधों और मकानों की मरम्मत तथा प्रभावित इलाकों में जल आपूर्ति के लिए 1000 करोड़ रुपये का कोष बनाया है। मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने मृतकों के परिजनों को दो-दो लाख रुपये की सहायता प्रदान करने की घोषणा की है।

अम्फान के कारण राज्य में 72 लोगों की मौत हुई है और संपत्ति को भी काफी नुकसान पहुंचा है। ओडिशा में तूफान की वजह से 10 उत्तरी जिलों के 44 लाख लोग प्रभावित हुए हैं। तूफान ने एक लाख हेक्टेयर से अधिक भूमि में खड़ी फसल तबाह कर दी है।

राज्य सरकार ने बताया कि 6745 गांवों की 1500 ग्राम पंचायत और 89 खंडों में भारी नुकसान हुआ है।

loading...
Loading...