नमो एप के जरिये प्रधानमंत्री मोदी ने की देशवासियों से बात

नमो एप
Please Share This News To Other Peoples....

नई दिल्ली। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने गुरूवार को नमो एप के जरिए देशवासियों से बात की। पीएम ने एप के माध्यम से दीनदयाल उपाध्याय ग्राम ज्योति योजना एवं सौभाग्य योजना के लाभार्थियों के साथ सीधा बात किया। प्रधानमंत्री मोदी ने उत्तर पूर्वी राज्यों समेत देश के अन्य राज्यों के लोगों से भी बात की। साथ ही उन्होंने मणिपुर, त्रिपुरा, असम, अरुणाचल के लोगों से बात करते हुए कई सवाल भी पूछे। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने पूछा कि अब और पहले में क्या अंतर है? इस दौरान लोगों ने जवाब में पीएम मोदी से गांवों में बिजली आने के बाद जो परिवर्तन हुए हैं उन्हें शेयर किया।

नमो एप पर मोदी सरकार के योजनाओं के लाभ का विवरण दिया हुआ है

पहले और अब में अंतर बताते हुए लाभार्थियों ने बताया कि बिजली नहीं होने से पहले गांव के क्या हालात थे। लेकिन अब बिजली पहुंचते ही गांव में क्या-क्या परिवर्तन हुए हैं इस पर बात की। इस दौरान प्रधानमंत्री मोदी ने कांग्रेस पर भी हमला बोला है। उन्होंने कहा कि पिछली सरकारों ने वादों को गंभीरता से नहीं लिया। लेकिन हम अपना काम गंभीरता से कर रहे हैं। उन्होंने बताया कि हमने 1 मई 2018 तक 18,452 गावों में बिजली पहुंचाने का वादा पूरा किया। उन्होंने कहा कि कांग्रेस सरकार ने 2009 तक देश के हर गांव में बिजली पहुंचाने का वादा किया था। लेकिन वह अपने वादे को पूरा नहीं कर पाए हैं। आजादी के बाद पहली बार ऐसा हुआ है जब देश के कोने-कोने में बिजली पहुंचाई गई है।

ये भी पढ़ें: अविश्वास प्रस्ताव: मोदी सरकार की राह हो गयी आसान, भाजपा के शत्रु भी देंगे समर्थन 

एक विद्युतीकरण के लाभ को बताया

पीएम मोदी से बात करते हुए एक विद्युतीकरण के लाभार्थी ने पीएम को बताया कि बिजली आने के बाद उनके गांव में शहरों जैसी सुविधाएं मिलने लगी हैं। साथ ही उनके गांव पलामू में प्रज्ञा केंद्र भी खुले हैं। पीएम मोदी ने कहा कि इन राज्यों में बिजली आने से लोगों में खुशी का माहौल है। जिसके बाद प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि अब गांव से आगे बढ़कर हम हर घर तक बजली पहुंचाने का काम करेंगे। ये हमारा अगला लक्ष्य है। इसके लिए गांवों में कैंप भी लगाये जा रहे हैं। उन्होंने कहा कि इसके लिए गरीब परिवारों को फ्री में कनेक्शन दिया जाएगा जबकि दूसरे परिवारों से सिर्फ 500 रुपये लिये जाएंगे।

loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *