मजदूर की हत्या के एक और आरोपी को पुलिस ने दबोचा…

24ghanteonline
Please Share This News To Other Peoples....
 लखनऊ। बंथरा इलाके में करीब एक माह पहले हत्या कर फेंके गए मजदूर वीरू के शव के मामले में पुलिस ने चौथे आरोपी सूरज को इलाके से गिरफ्तार कर गुरुवार को जेल भेज दिया।

यह भी पढ़ें : लखनऊ : पीड़ितों की सुविधा के लिए थानों के प्रवेश द्वार पर लगेंगे सीसीटीवी कैमरे…

उन्नाव के हसनगंज का है मामला…

बताते चलें कि उन्नाव जिले के हसनगंज थानांतर्गत लालपुर गांव निवासी हरियाणा में रहकर मजदूरी करने वाले वीरू की हत्या कर फेंका गया शव बीती 3 फरवरी को बंथरा इलाके के अमावा जंगल में पड़ा मिला था। काफी दिनों बाद एक मार्च को मृतक के पिता टोड़ी लाल ने उसके फोटो व कपड़ों के आधार पर उसकी शिनाख्त की।

यह भी पढ़ें :लखनऊ : कांशीराम की जयंती पर नारों से गुंजा कांशीराम स्मारक…

पुलिस की जांच में पता चला कि…

पुलिस की जांच पड़ताल में मृतक की पत्नी सीमा और उसके प्रेमी पारा के मुन्नू खेड़ा निवासी अभिताब उर्फ अन्ताव द्वारा हत्या कराने की बात सामने आई। जिसके आधार पर पुलिस ने घटना में शामिल मृतक की पत्नी सीमाए पारा के मुन्नू खेड़ा निवासी अजय रावत व दुर्गेश रावत को गिर तार कर बीती 9 मार्च को जेल भेज दिया था। जबकि इस मामले में सामने आए सीमा का प्रेमी  अभिताबए उसके गांव का ही निवासी सूरज रावत और सरोजनीनगर के आरोपी अनौरा गांव निवासी सूरज रावत फरार चल रहे थे। जिसमें से आरोपी अनौरा निवासी सूरज को पुलिस ने बंथरा के हरौनी रेलवे स्टेशन के पास से गुरुवार को गिरफ्तार कर उसे जेल भेज दिया है।

Related posts:

निकाय चुनाव : नाबालिग बच्चों से चुनाव प्रचार करवा रहे हैं प्रत्याशी
यूपी निकाय चुनाव: सबसे ज्यादा अपराधी व करोड़पति मेयर प्रत्याशी बीजेपी के  
सीबीआई का ग़लत इस्तेमाल कर लालू को फंसाया, जांच अधिकारी ने बताया था निर्दोष : आरजेडी
किशोरी के साथ दुराचार करने वाले आरोपी को पुलिस ने दबोचा
योगी के मंत्री बोले- हमारी सरकार में भ्रष्टाचार कम नहीं हुआ, उल्टा बढ़ा है
U 19 wordcup फाइनल : ऑस्ट्रेलिया ने भारत को जीत के लिए दिया 217 का टारगेट
जानिए यूपी इंवेस्टर समिट 2018 का मिनट-टू-मिनट कार्यक्रम
लखनऊ : कार का शीशा तोडक़र चोर उड़ा ले गये ब्रीफकेस...
शरद यादव को लेकर जदयू ने तेजस्वी का उड़ाया मजाक, बताया राजद की पतिव्रता स्त्री
त्रिपुरा चुनाव : सीताराम येचुरी ने कहा, पैसे के दम पर जीती भाजपा
अखिलेश बोले- हम चाहते तो बदल सकते थे आंबेडकर का नाम, लेकिन...
बसपा अध्यक्ष ने कहा- दलितों की परछाई भी नहीं पड़ने देना चाहते बीजेपी वाले

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *