पति-पत्नी के बीच तलाक कराये जाने की खबर लगते ही पुलिस अधिकारियों के पसीने छूटे

तलाकतलाक

लखनऊ। शुक्रवार को निगोहां थाने में पति-पत्नी के बीच तलाक कराये जाने की खबर लगते ही पुलिस अधिकारियों के पसीने छूट गए। पुलिस अधिकारियों ने थाना प्रभारी की जमकर लताड़ लगाई और पति-पत्नी व उनके परिजनों को बुलाकर थाने में दोनों के बीच सुलह करा दिया। हालांकि मामूली सी बात से पति-पत्नी के बीच हुए मनमुटाव को रिश्तेदारों ने चंद मिनटों में सुलझा दिया। दोनों खुशी-खुशी अपने घर लौट गए। उधर आरोपित सिपाही को थाना प्रभारी बचाते नजर आये।

थाना प्रभारी ने रिश्तेदारों की मौजूदगी में पति-पत्नी के बीच सुलाह करा दिया

ज्ञात हो कि निगोहां के रामदासपुर गांव निवासी मनोज सोमवार को शराब पीकर घर पहुंचा था। मनोज को शराब के नशे में धुत देखकर पत्नी रोशीन आग-बबूला हो गई थी। दोनों के बीच विवाद हो गया था। नाराज पत्नी ने मनोज को घर में घुसने नहीं दिया था और दूसरे दिन अपने मायके वालों को बुला लिया था। रोशनी ने मनोज के खिलाफ निगोहां थाने में शिकायत की थी। थाने में मौजूद सिपाही राजेश पाण्डेय को मामले को निपटाने के लिए लगाया गया था। दोनों के बीच विवाद होता देख सिपाही ने रिश्तेदारों को गुरूवार थाने के सामने बुलाया था। दोनों पक्ष के लोग गुरूवार को सिपाही के कहने पर पहुंच गए। सिपाही ने कागज में लिखापढ़ी करवाकर पति-पत्नी के बीच तलाक करवा दिया था। बुजुर्गों ने दूधमुहे बच्चे का हवाला देते हुए तलाक से इन्कार कर दिया था। इस पर सिपाही ने उनकी फटकार लगा दी थी। शुक्रवार उक्त खबर तमाम समाचार पत्रों में प्रकाशित हुई। थाने में तलाक कराये जाने की खबर पढक़र पुलिस अधिकारियों के पैरों तले जमीन खिसक गई। पुलिस अधिकारियों ने थाना प्रभारी निगोहंा की जमकर फटकार लगाई। जिसके कुछ ही समय बाद थाना प्रभारी ने मनोज और रोशनी व उनके परिजनों को थाने बुलाया। थाना प्रभारी ने रिश्तेदारों की मौजूदगी में पति-पत्नी के बीच सुलाह करा दिया। दोनों के बीच हुए मनमुटाव को रिश्तेदारों ने समझा-बुझा कर खत्म करवा दिया। पति-पत्नी खुशी-खुशी अपने घर पहुंच गए। तब जाकर थाना प्रभारी ने चैन की सांस ली। वहीं थाना प्रभारी आरोपित सिपाही को बचाने में जुटे हैं। उनका कहना है कि सिपाही ने तलाक नहीं कराया था।

ये भी पढ़े : एसटीएफ ने मुठभेड़ के दौरान दबोचा 25 हजार का इनामी 

मनोज ने शराब न पीने की खाई कसम

मनोज और रोशनी फिर से एक हुए। रोशनी जब अपनी ससुराल पहुंची तो दोनो बच्चे मां के आंचल में लिपट कर रो पड़े। बच्चों के गिरते आंसू देख रोशनी भी अपने आप को रोक नही पाई और रोने लगी। मनोज ने पत्नी और बच्चों को संभाला और कभी अलग न होने की कसमें खाई। मनोज ने दोबारा शराब को हाथ भी ना लगाने की कसम भी खायी।

loading...
Loading...

You may also like

सिपेट कॉलेज पर कृष्ण के पिता ने लगाया लापरवाही का आरोप, छात्रों ने मचाया हँगामा

लखनऊ। सरोजनीनगर के नादरगंज स्थित सिपेट कॉलेज में