प्रो. जीडी अग्रवाल के निधन पर सियासत तेज, राहुल गांधी जायेंगे हरिद्वार

जीडी अग्रवालजीडी अग्रवाल

ऋषिकेश। गंगा रक्षा और गंगा एक्ट की मांग को लेकर 24 जून से अनशन पर बैठे प्रोफेसर जीडी अग्रवाल उर्फ़ स्वामी ज्ञानस्वरुप सानंद की मौत के बाद सियासत तेज हो गयी है। 113 दिनों से अनशन के बाद पर्यावरण संरक्षक प्रोफेसर जीडी अग्रवाल का निधन ऋषिकेश से दिल्ली लाते वक़्त हो गया। बताया जा रहा है कि अनशन के बाद उनकी तबियत काफी बिगड़ने लगी थी जिसके लिए उन्हें ऋषिकेश के एम्स में भर्ती कराया गया था। वहीं, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने ट्वीट कर प्रोफेसर जीडी अग्रवाल के निधन पर दुख व्‍यक्त किया। ट्वीट में लिखा कि “शिक्षा और पर्यावरण संरक्षण, विशेषकर गंगा स्वच्छता के प्रति उनका जुनून हमेशा याद रखा जाएगा। मेरी श्रद्धांजलि।”

प्रो. जीडी अग्रवाल की 86 की उम्र में निधन

मंगलवार को उनकी तबियत बिगड़ने के बाद उन्हें हरिद्वार स्थित मातृसदन से लाकर एम्स मे भर्ती कराया गया था। डाक्टरों के अनुसार उनके शरीर में पोटेशियम और ग्लूकोज निचले स्तर पर आ गया था, इसकी वजह से दोपहर उन्हें हृदयघात आया। 86 वर्षीय सानंद अविवाहित थे। चूंकि, स्वामी सानंद ने एम्स ऋषिकेश को अपनी देह दान की हुई थी, लिहाजा पार्थिव शरीर को अभी एम्स में ही रखा गया है। शाम को परिजन भी यहां पहुंच गए। साथ ही उनकी मौत पर सियासत गरमाती नजर आ रही है। कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी के हरिद्वार जाने की भी खबर सामने आई है। हालांकि अभी इसका आधिकारिक पुष्टि नहीं हुई है।

ये भी पढ़ें : अलीगढ़ युनिवर्सिटी ने आतंकी मन्नान को बताया शहीद, मुफ़्ती ने मौत पर जताया दुःख 

24 जून से अनशन पर बैठे जीडी अग्रवाल को कई बार सरकार ने अनशन ख़त्म करवाने का प्रयत्न किया है। लेकिन उनका कहना था कि जब तक गंगा एक्ट लागू नहीं होता वो अनशन पर रहेंगे। जिसके बाद उनके गिरते स्वास्थ्य का हवाला देते सानंद को अस्पताल में भर्ती कराया गया। केंद्रीय मंत्री गडकरी के प्रतिनिधि के तौर केंद्रीय जंलसंसाधन मंत्री उमा भारती ने भी मातृसदन आश्रम में सानंद से मुलाकात कर अनशन समाप्त कराने का प्रयास किया था। लेकिन जीडी अग्रवाल की मौत पर संत समाज ने मोदी सरकार और राज्य सरकार के खिलाफ विरोध जताया है।

loading...
Loading...

You may also like

रेप से बचने के लिए निर्वस्त्र अवस्था में चार मंजिला से खुदी युवती, भाई चला रहा था सेक्स रैकेट

जयपुर। मुहाना थाना इलाके में शुक्रवार की रात