चोरी का विरोध करने पर हुई थी प्रदीप की हत्या, एक हत्यारोपी गिरफ्ता

- in क्राइम
हत्यारोपीहत्यारोपी
 लखनऊ। तालकटोरा इलाके में ट्रक से गेहूं की बोरी की चोरी का विरोध करने पर रखवाली कर रहे प्रदीप को बदमाशों ने बेरहमी से पीट दिया था। उसका सिर ट्रक के डाले से कई बार लड़ा दिया था। घायल की मौके पर ही मौत हो गई थी। बदमाश गेहूं की बोरी चोरी कर भाग निकले थे। तालकटोरा पुलिस ने हत्याकाण्ड़ का खुलासा करते एक हत्यारोपी को गिरफ्तार कर लिया है। जबकि उसके साथी अभी भी फरार हैं।

बदमाशों को विरोध करने पर की बेरहमी से पिटाई  

थाना प्रभारी तालकटोरा संजय पाण्डेय ने बताया कि सी ब्लाक निवासी प्रदीप एफसीआई के पास गेहूं लदे ट्रकों की रात में रखवाली करता था। 30 जून को भी वह वहीं ट्रकों के पास सो गया था। इसी दौरान बाजारखाला दरियापुर निवासी काशी उर्फ उमेश रावत अपने साथियों के साथ गेहूं चोरी करने के लिए पहुंचा था। उमेश ने एक ट्रक का डाला खोल दिया था और उसमें रखी तीन बोरियां निकाल ली थीं, इसी दौरान प्रदीप की सोते से आंखें खुल गईं थीं। प्रदीप बदमाशों को विरोध करने लगा था। इस पर उमेश व उसके साथियों ने प्रदीप की बेरहमी से पिटाई कर दी थी और उसका सिर डाले में कई बार लड़ा दिया था।

शुक्रवार को हत्यारोपी को ए-ब्लाक से किया गिरफ्तार 

लहुलूहान होकर प्रदीप मौके पर ही बेसुध हो गया था। बदमाश बोरी को चोरी कर भाग निकले थे। सुबह तक प्रदीप की मौत हो गई थी। शुक्रवार को तालकटोरा पुलिस ने हत्यारोपी उमेश को ए-ब्लाक से गिरफ्तार कर लिया है, जबकि उसके अन्य साथियों की तलाश में जुटी है।
loading...
Loading...

You may also like

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के दौरे से पहले पहुंचे दो संदिग्ध ईरानी गायब

इंदौर। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के दौरे के ठीक