राहुल गांधी राजनीति करने के बजाए राष्ट्रीय हित को ध्यान में रखें : सत्यपाल मलिक

सत्यपाल मलिकसत्यपाल मलिक
Loading...

नई दिल्ली। जम्मू-कश्मीर के राज्यपाल सत्यपाल मलिक ने कहा कि राहुल गांधी का जम्मू-कश्मीर में कोई जरुरत नहीं है। उनकी तब जरुरत थी जब उनके पार्टी के नेता सदन में बोल रहे थे। वह यहां आकर स्थिति को खराब करना चाहते हैं और उस झूठ को दोहराना चाहते हैं जो उन्होंने दिल्ली में बोले थे तो यह ठीक नहीं है। मैंने उन्हें सद्भावना से आमंत्रित किया था, लेकिन उन्होंने राजनीति करना शुरू कर दिया। यह इन लोगों द्वारा राजनीतिक कार्रवाई के अलावा कुछ नहीं था। पार्टियों को इन समय में राष्ट्रीय हित को ध्यान में रखना चाहिए। न्यूज़ एजेंसी एएनआई से बात करते हुए सतपाल मलिक ने यह बात कही है।

बता दें कि कि राज्य को विशेष दर्जा देने वाले संविधान के अनुच्छेद 370 को निष्प्रभावी किये जाने बाद कश्मीर घाटी की स्थिति का जायजा लेने के लिए शनिवार को राहुल गांधी, कांग्रेस पार्टी के वरिष्ठ नेता गुलाम नबी आजाद, मार्क्सवादी कम्युनिस्ट पार्टी के महासचिव सीताराम येचुरी, राजद के नेता मनोज झा समेत वहां गए सभी विपक्षी नेताओं को एअरपोर्ट से वापस कर दिया गया।

जम्मू-कश्मीर से अनुच्छेद 370 को निष्प्रभावी किये जाने और 35-ए को हटाये जाने के बाद राहुल गांधी ने राज्य का हाल जानने के लिए वहां जाने की इच्छा जाहिर की थी। कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने एक बयान दिया था कि कश्मीर घाटी में हिंसा की खबरे हैं। जिसके जवाब में जम्मू कश्मीर राज्यपाल सत्यपाल मलिक ने कहा कि मैं राहुल गांधी के लिए एक विमान भेजूंगा वह यहां आएं और जमीनी हकीकत जान लें।

मालिक के निमंत्रण का जवाब देते हुए राहुल गांधी ने कहा था कि – प्रिय मालिक जी , मैंने आपका ट्वीट देखा मैं जम्मू-कश्मीर की यात्रा करने और लोगों से मिलने के आपके निमंत्रण को स्वीकार करता हूं, जिसमें कोई भी शर्त नहीं जुड़ी है। मैं कब आ सकता हूं?

इसके पहले भी राहुल ने एक ट्वीट करते हुए लिखा था कि मैं, आपके निमंत्रण पर विपक्षी नेताओं के एक प्रतिनिधिमंडल के साथ जम्मू-कश्मीर और लद्दाख की यात्रा पर आना चाहता हूं। हमें विमान की आवश्यकता नहीं है, लेकिन कृपया हमें वहां आजादी से यात्रा करने, स्थानीय लोगों, वाहन के स्थानीय नेताओं और हमारे सैनिकों से मिलने की स्वतंत्रता सुनिश्चित करें।

Loading...
loading...

You may also like

‘ममता बनर्जी का पीएम मोदी से मिलना उनकी हताशा’ – कैलाश विजयवर्गीय

Loading... 🔊 Listen This News नई दिल्ली। पश्चिम