राहुल के नये अवतार से मोदी पस्त , बीजेपी का हथियार बना उसके लिए भस्मासुर

लखनऊ । कभी सोशल मीडिया पर राहुल गांधी सर्वाधिक प्रताड़ित चेहरा थे, लेकिन आज वह अपने विरोधियों को उन्हीं के ही हथियार से मात देते नजर आ रहे हैं। आज उनके ट्वीट्स सबसे ज्यादा रीट्वीट हो रहे हैं। सबसे ज्यादा लाइक किये जा रहे हैं। ये करिश्मा नहीं है बल्कि एक बड़ा बदलाव है।

बतातें चलें कि राहुल अब बदल गए हैं। उनकी बात अब सिर्फ लोगों को मजाक नहीं, बल्कि लोगों के दिलों तक उतर रही है। यह दावा कांग्रेस के एक सीनियर लीडर ने किया है।  कांग्रेस कुछ दिनों में ही सोशल मीडिया वार को बीजेपी के खिलाफ मोड़ दिया है। इसमें कोई शक नहीं कि इसके पीछे कांग्रेस की सोशल मीडिया टीम का बड़ा और मजबूत रोल है। कांग्रेस की डिजिटल एंड सोशल मीडिया हेड दिव्या स्पंदना और उनकी टीम ने राहुल का अवतार बदल दिया है।

सोशल मीडिया वार को बीजेपी के खिलाफ मोड़ा

कांग्रेस के इस पूर्व मंत्री का कहना है कि आज ‘विकास पागल हो गया है’,  ‘गब्बर सिंह टैक्स’, ‘2017 बीजेपी के लिये खतरा’ जैसे नारे सोशल मीडिया पर सिर चढ़ कर बोल रहे हैं। वजह यह है  कि वे सिर्फ जुमले नहीं बल्कि सच्चाई है। राहुल गाँधी एक तरह से पार्टी अध्यक्ष बनने की पूरी तैयारी कर चुके हैं । उन्होंने सोशल मीडिया में ही नहीं संगठन में भी बदलाव के काम शुरू कर कर दिये हैं। वह किसी घिरे हुए नेता की तरह नहीं दिखते। बल्कि वह अपनी कोर टीम से फीडबैक लेते हैं, लेकिन राय अपनी खुद की रखते हैं। उनका कोर ग्रुप है जो संगठन से अलग नेताओं से अलग उन्हें फीडबैक देता है। शायद आज इसीलिए कोई दावे से नहीं कह सकता कि वह राहुल का खास है।

राहुल में कांग्रेस नेताओं को दिखती है राजीव की छवि 

कई वरिष्ठ नेताओं को आज राहुल में राजीव की छवि दिखती है। नेताओं का कहना है कि वह खुद ज्यादा बोलने की बजाय सुनने को अहमियत देते हैं। ये ही अंदाज कभी राजीव का था। कांग्रेस के नजदीकी सूत्र दावा करते हैं कि सैम पित्रोदा, शशि थरूर और युवा नेता मिलिंद देवड़ा उनके लिए एक खास टीम की तरह हैं। वे उनसे लगातार बात करते हैं, और कई बार अपनी स्पीच पर भी चर्चा करते हैं। उनकी बात सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म पर बेहतर ढंग से जाये इसलिए बाकायदा पंच लाइनों पर काम हो रहा है। वे पिछले दिनों उन्होंने बहुत हल्के-फुल्के अंदाज में पीएम मोदी पर चुटली ले ली। उन्होंने कहा कि मोदी का सीना तो 56 इंच का है, लेकिन दिल बहुत छोटा है। कांग्रेस अब गुजरात चुनाव के बाद मध्य प्रदेश, छत्तीसगढ़, जैसे तमाम राज्यों पर फोकस किया जा रहा है। यहां विधानसभा के लेवल पर सोशल मीडिया टीम को बनाने के निर्देश दिए गए हैं।

Loading...
loading...

You may also like

कमल खेल प्रतियोगिता युवाओ के लिये प्रेंरणा-डॉ चन्द्रेश

सिद्धार्थनगर। भारतीय जनता पार्टी प्रदेश के निर्देश पर