विवादित भूमि पर राम मंदिर का निर्माण ही होना चाहिए : मुख्तार अब्बास नकवी

विवादित भूमि
Please Share This News To Other Peoples....

इलाहाबाद। अयोध्या में विवादित भूमि पर राम मंदिर के निर्माण की मांग तेज होने लगी है। इस मामले बीजेपी के नेता एक के बाद एक बयान दे रहे हैं। इस बार केंद्रीय मंत्री मुख्तार अब्बास नकवी ने राममंदिर निर्माण को लेकर बड़ा बयान दिया है। नकवी ने कहा सबसे सही यही होगा कि अयोध्या की विवादित भूमि पर राम मंदिर का निर्माण हो। बता दें कि नकवी मुहर्रम के कार्यक्रम में शामिल होने इलाहाबाद अपने पैतृक गांव पहुंचे थे।

विवादित भूमि पर हो राम मंदिर का निर्माण

इस दौरान केंद्रीय मंत्री मुख्तार अब्बास नक़वी ने सोमवार को पत्रकारों से बातचीत की। उन्होंने कहा कि अयोध्या में राम मंदिर का निर्माण होना चाहिए। ये सबके मन मे है और बीजेपी भी यही चाहती है। साथ ही उन्होंने कहा कि मामला सुप्रीम कोर्ट में है। निर्णय का इंतज़ार करना चाहिए। वैसे सबसे आदर्श होगा कि आम सहमति से राम मंदिर का निर्माण हो।

वहीँ यूपी में मदरसों पर हो रही सख्ती के मामले में बोलते हुए केंद्रीय मंत्री ने कहा कि मदरसों जिन मदरसों को फंडिंग की जा रही है, उन्हें हिसाब देना पड़ेगा। मदरसों को मुख्य धारा की शिक्षा देनी पड़ेगी। बच्चों को हिंदी, अंग्रेजी, गणित की शिक्षा देने जरूरी है। मदरसों का पंजीकरण भी जरूरी है। साथ ही उन्होंने कहा सभी मदरसों को शौचालय का निर्माण करना चाहिए। जिसके लिए केंद्र और यूपी सरकार मदद करेगी।

इस दौरान नकवी ने लोकसभा और विधानसभा चुनावों को एक साथ कराने की बात का समर्थन किया। उन्होंने कहा कि देश में बार बार चुनाव होने से चुनावों का देश बन गया है। उन्होंने लोकसभा औऱ विधानसभा चुनाव एक साथ कराने की सलाह दी। उनका कहना है कि भारत निर्वाचन आयोग को इसकी पहल करनी चाहिये। चुनाव आयोग के फैसले का सरकार समर्थन करते हुये सहयोग करेगी। मुख्तार अब्बास नकवी ने कहा कि मौजूदा सरकार पहले से ही एक राष्ट्र एक चुनाव की पक्षधर रही है। बार बार चुनाव होने से जनता पर बोझ पड़ता है और जनता परेशान भी होती है। चुनाव आचार संहिता लागू होने के कारण विकास के कार्यों में बाधा आती है. देश का विकास प्रभावित होता है।

loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *