निर्दोष साबित होने के लिए रेप के आरोपी ने कोर्ट में खोली पैंट, लिंग का रंग दिखाकर हुआ बरी

रेप के आरोपीरेप के आरोपी

नई दिल्‍ली। लोगों को जब किसी से न्याय नहीं मिलता तो वह कोर्ट का दरवाजा खटखटाते हैं। क्योंकि उनका भरोसा कोर्ट की न्यायप्रियता पर कायम है। लेकिन कभी-कभी कोर्ट के फैसले लोगों को चौंका देते हैं। दरअसल अमेरिका के कनेक्टिकट में एक रेप के आरोपी ने भरी अदालत में अपने आपको निर्दोष साबित करने के लिए कुछ ऐसा किया। जिससे सभी लोग दंग रह गए सबसे हैरान करने वाली बात तो यह है कि अदालत ने उस रेप के आरोपी को बरी भी कर दिया।

पढ़ें:- प्रेमी से करवा दी पति की हत्या, पत्नी सहित तीन आरोपी गिरफ्तार 

रेप के आरोपी ने भरी अदालत में पैंट खोलकर दिखाया अपना लिंग

जानकारी के मुताबिक रेप के आरोपी ने अपने आपको निर्दोष साबित करने के लिए भरी अदालत में अपनी पैंट खोलकर अपने लिंग का रंग दिखाया और सुनवाई कर रही जूरी ने उसे बरी कर दिया। बता दें कि इस शख्स पर साल 2012 में एक महिला का बलात्कार करने का आरोप था। महिला ने अपनी शिकायत में कहा था कि जिस आदमी ने उनका रेप किया वह एक अश्वेत था। जिसके प्राइवेट पार्ट का रंग बाकी शरीर की तुलना में हल्का था।

रेप का आरोपी

आरोपी के वकील टॉड बुसर्ट का कहना है कि उनके मुवक्किल के पास खुद को निर्दोष साबित करने के लिए यही एक मात्र तरीका था। शख्स पर साल 2012 में एक महिला का बलात्कार करने का आरोप था। महिला ने अपनी शिकायत में कहा था कि जिस आदमी ने उनका रेप किया वह एक अश्वेत था जिसके प्राइवेट पार्ट का रंग बाकी शरीर की तुलना में हल्का था। टॉड ने बताया कि पहले उन्होंने अपने मुवक्किल को इस बात के लिए राजी करने में काफी मशक्कत करना पड़ा उन्होंने अपने मुवक्किल से कहा कि जब तक वे प्राइवेट पार्ट नहीं दिखाएंगे, वे बरी नहीं हो सकते। इसके लिए उन्होंने फोटो खिंचवाकर कोर्ट में प्रस्तुत करने की योजना बनाई, लेकिन दुर्भाग्य से फोटो खींचने के दौरान फ्लैश की वजह से ये सभी फोटो सही नहीं आए।

पढ़ें:- लखनऊ मॉन्टेसरी इंटर कॉलेज : स्वयंभू प्रबंधक जय प्रकाश ने स्कूल के खातों से निकाले लाखों रुपये 

ऐसे में रेप के आरोपी के पास कोर्ट में अपनी पैंट उतारने के अलावा कोई रास्ता ही नहीं बचा। खुद को निर्दोष साबित करने के लिए और कोई रास्ता न देखते हुए आरोपित शख्स राजी हो गया। इसके बाद 6 सदस्यों वाली जूरी को इस बारे में जानकारी दी गई। जूरी सहमति के बाद आरोपित शख्स 3 से 5 सेकंड की प्रक्रिया से गुजरा।

आरोपी अभी भी जेल में काट रहा है सजा

इस मामले में जूरी ने उस शख्स जरूर बरी कर दिया हो, लेकिन अब भी वह जेल से रिहा नहीं हुआ है। दरअसल इस शख्स को घर में जबरन घुसकर 10 साल की बच्ची के यौन उत्पीड़न का दोषी करार दिया गया है। इस केस में ये शख्स 65 साल की जेल की सजा काट रहा है।

loading...
Loading...

You may also like

अभिजीत मर्डर केस में मां को 14 दिनों की न्यायिक हिरासत में भेजा जेल

लखनऊ। विवेक यादव उर्फ़ अभिजीत मर्डर केस में विधान