जहरीले अजगर के जैसे है योगी आदित्‍यनाथ : राशिद अल्‍वी

जहरीले अजगर के जैसे है योगी आदित्‍यनाथ : राशिद अल्‍वी

नई दिल्‍ली/ लखनऊ। लोकसभा चुनाव से पहले सभी पार्टी एक दूसरे पर आरोप-प्रत्‍यारोप करते जा रहे है अभी तक तो सिर्फ प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का ही विरोध किया जा रहा था लेकिन अब तो नेता उत्‍तर प्रदेश के मुख्‍यमंत्री योगी आदित्‍यनाथ की भी तुलना जहरीले अजगर से करने लगे है।

बता दें कि यूपी में समाजवादी पार्टी और बहुजन समाज पार्टी से गठबंधन न होने के बाद कांग्रेस पार्टी सभी 80 सीटों पर चुनाव लड़ने जा रही है।

अमरोहा में कांग्रेस की बैठक को संबोधित करते हुए राशिद अल्वी ने यूपी के मुख्‍यमंत्री पर हमला करते हुए कहा कि योगी इतने जहरीले हैं कि अजगर भी शर्मा जाए। कार्यकर्ताओं से 2019 के चुनाव में जुड़ने की अपील की बैठक के बाद पत्रकारों से बात करते हुए अल्वी ने बताया कि कांग्रेस अपने अकेले के दम पर 80 के 80 सीटों पर चुनाव लड़ेगी।

ये भी पढ़ें:- बुआ से मिलने लखनऊ आया एक और बबुआ, पैर छू लिया आशीर्वाद 

राशिद अल्वी का मानना है कि समझौता हो, लेकिन अगर समझौता नहीं हुआ तो कांग्रेस अपने दम पर चुनाव लड़ेगी। उन्‍होंने कहा कि समान विचार धारा वाले दलों के साथ मिलकर चुनाव लड़ने का प्रयास करेगी।

सपा-बसपा से गठबंधन न होने के कारण उत्‍तर प्रदेश में कांग्रेस की स्थिति को लेकर एक सवाल पर अल्वी ने कहा कि उनकी पार्टी ने हाल ही में तीन प्रदेशों में चुनाव जीतकर वहां अपनी सरकार बनाई है। यूपी के अंदर 2009 में कांग्रेस सबसे बड़ी पार्टी थी। जनता पार्टी एक जमाने में सिर्फ दो एमपी रखती थी, आज सरकार चला रही है। इसलिए कांग्रेस को कम करके नहीं आंकना चाहिए।

हालांकि ऐसा लगता है कि उत्‍तर प्रदेश में कांग्रेस ने भी तक आस नहीं छोड़ी है। पार्टी को शायद अब भी लगता है कि यूपी में किसी पार्टी से उनका गठबंधन संभव है। छोटी पार्टियों से भी गठबंधन से कांग्रेस को अब काई गुरेज नहीं है। शायद इसीलिए अल्वी ने कहा कि समान विचारधारा वाले सेकुलर दल को अपने साथ मिलाने का कांग्रेस पूरा प्रयास करेगी। ये मायने नहीं रखता है कि वह कोई छोटा या बड़ा दल हो।

राशिद अल्वी ने कहा कि उनका कार्यकर्ता और पार्टी पूरी ताकत के साथ इस बार का चुनाव लड़ेगी। राहुल गांधी फरवरी में 11 पब्लिक मीटिंग करेंगे, जिनमें पहली मीटिंग मोरादाबाद में होगी और हम अकेले के दम पर ताकत के साथ चुनाव लड़ेंगे। कांग्रेस यूपी में अलग-थलग पड़ती नजर आ रहा है।

राजनीति के जानकारों की मानें तो दिल्‍ली में सत्‍ता की सीढ़ी उत्‍तर प्रदेश से होकर गुजरती है। ऐसे में पार्टी लोकसभा चुनाव के लिए अपनी अपनी रणनीति बना रहे है और उत्तर प्रदेश मे अपना परचम लहराने को तैयार है।

Loading...
loading...

You may also like

अखिलेश से मिले जयंत, बोले भाजपा के तानाशाही रवैया के खिलाफ विपक्ष एकजुट

लखनऊ । राष्ट्रीय लोकदल (आरएलडी) के महासचिव और