प्रसव के बाद कमज़ोरी को दूर करती है सोंठ

- in स्वास्थ्य

आपको बता दें, अदरक जमीन के अंदर पैदा होता है जिसे खोद का निकालकर सुखा दिया जाता है तो सोंठ बन जाता है. इससे आपको कई तरह के लाभ मिलते हैं. सोंठ के औषधीय प्रयोग से कफवात का नाश होता है. इतना ही नहीं अदरक से पाचन क्रिया भी सही होती है. इसके अलावा आपको दुरस्‍त रखती है और अनेक प्रकार के रोगों की रोकथाम करती है. इसी से औषधि भी बनाई जाती है और इसी के कुछ लाभ हम आपको बताने जा रहे हैं.

सोंठ के औषधीय प्रयोग

* अधकपारी या आधा सिरदर्द में सोंठ को चंदन की घिसकर लेप लगाने से आराम मिलता है.

* सोंठ को नीम के पत्ते के साथ पीस लें. उसमें थोड़ा सा सेंधा नमक मिलाकर गोलियां बना लें. इस गोली को हल्‍का गर्म करके आंखों पर बांधने से आंख का दर्द का दूर होता है.

* यदि कमर दर्द से परेशान हैं तो आधा चम्‍मच सोंठ का चूर्ण दो कप पानी में उबालें. जब पानी आधा कप रह जाए तो छानकर उसे ठंडा कर लें और उसमें दो चम्‍मच अरंडी का तेल मिलाकर रोज रात को पीयें.

* सोंठ का काढ़ा बनाकर पीने व अजवाइन की फक्‍की लेने से उदर रोगों में लाभ होता है.

* मुलहटी व सोंठ का एक चम्‍मच चूर्ण गुनगुने गर्म पानी से लेने पर खांसी चली जाती है और कफ बाहर निकल आता है.

* सोंठ का एक चम्‍मच चूर्ण गर्म पानी में उबालकर पीने से कब्‍ज का नाश होता है. गुड़ में सोंठ का चूर्ण मिलाकर खाने से पाचन क्रिया बढ़ती है.

* प्रसव के बाद सोंठ व सफेद मूसली का चूर्ण, कतीरा गोंद के साथ खाने पर प्रसव की कमजोरी व कमर दर्द में आराम मिलता है.

Loading...
loading...

You may also like

कोलंबो में हुआ दूसरा एक और बड़ा विस्फोट, बरामद हुए 87 बम

🔊 Listen This News कोलंबो : श्रीलंका की