जोड़ों या उंगलियों के कालेपन को इन आसान घरेलू नुस्खों से करें दूर

- in फैशन/शैली
हाथ का कालापनहाथ का कालापन

लाइफस्टाइल डेस्क। अक्सर लोगों के हाथों की उंगलियों के पोर काले हो जाते हैं, जिसके कारण उनके हाथों की सुन्दरता खराब होती है। जोड़ों पर जमा गंदगी बहुत जल्दी अपनी तरफ ध्यान खींचती है। ऐसे में अगर आपने खूबसूरत नेल पॉलिश भी लगाया हो, तब भी लोगों का ध्यान आपके उंगलियों के पोरों के कालेपन पर ही जाता है।

इसके कारण कई बार आपको शर्मिंदा होना पड़ता है। अगर आपकी उंगलियों में भी इस तरह का कालापन है, तो परेशान न हों। हम आपको बता रहे हैं कुछ बेहद आसान से  घरेलू नुस्खे, जिनकी मदद से आप इस कालेपन को दूर कर सकते हैं और अपने हाथों को खूबसूरत बना सकते हैं।

नमक लगाएं

नमक में एक्सफोलिएटिंग गुण होते हैं, यानी ये डेड स्किन सेल्स को हटाता है। कई बार पोरों के कालेपन का कारण यह भी होता है कि आपके जोड़ों पर काफी ज्यादा डेड स्किन सेल्स जमा हो गई हों। इसलिए इन्हें साफ करने के लिए आप नमक का प्रयोग कर सकते हैं। इसके लिए एक कटोरी में 1 चम्मच नमक लें और इसमें 2 चम्मच नींबू का रस मिलाएं। अब इस पेस्ट से अपने उंगलियों के पोरों को स्क्रब करें। हर उंगली को कम से कम 5 मिनट तक स्क्रब करने के बाद 10 मिनट सूखने दें और फिर हाथों को धो कर मॉइश्चराइजर लगा लें।

नींबू का रस

कई बार जोड़ों और पोरों पर इस तरह के कालेपन का कारण हाइपरपिग्मेंटेशन होता है। यानी आपकी त्वचा पर ज्यादा मात्रा में मेलानिन जमा हो जाता है, जिसके कारण त्वचा काली दिखने लगती है। इस समस्या को नींबू बहुत आसानी से ठीक कर सकता है। नींबू के जूस में एसिडिक गुण होते हैं, जिसके कारण ये त्वचा को ब्लीच करता है और कालेपन को दूर करता है।

इसके इस्तेमाल के लिए आप ताजे नींबू को काटकर इसे पोरों पर रगड़ें, जिससे नींबू का रस त्वचा के भीतर तक समा जाए। 10 मिनट इसी तरह मसाज करने के बाद 20 मिनट के लिए इसे सूखने के लिए छोड़ दें। इसके बाद सादे पानी से हाथ धो लें और त्वचा पर लाइट मॉइश्चराइजर लगा लें। आप इस रस को सप्ताह में 2-3 बार प्रयोग कर सकते हैं।

टमाटर का रस

टमाटर का रस भी हाइपरपिग्मेंटेशन के कारण काली हुई त्वचा को ठीक करने में बहुत फायदेमंद होता है। टमाटर का रस भी एसिडिक गुणों वाला होता है इसलिए ये त्वचा के लिए माइल्ड ब्लीच की तरह काम करता है। टमाटर का रस भी आप नींबू के रस की तरह लगा सकते हैं।

एक रसीला टमाटर काटें और इससे पोरों पर 10 मिनट तक मसाज करें। इसके बाद रस को 20-30 मिनट तक सुखाने के बाद हाथ को पानी से धो लें। हाथों को धोने के बाद मॉइश्चराइजर जरूर लगाएं, वर्ना त्वचा ड्राई रह जाएगी।

बादाम का तेल

कई बार इस तरह पोरों के कालेपन का कारण बहुत अधिक रूखापन होता है। इसलिए अगर आप अपने हाथों की उंगलियों पर रेगुलर बादाम के तेल से मालिश करते हैं, तो धीरे-धीरे ये कालापन साफ होने लगता है। इसके लिए आप 2-3 बूंद तेल हर उंगली में लगाकर तब तक मसाज करते रहें, जब तक कि त्वचा तेल को पूरी तरह सोख नहीं लेती है। बादाम के तेल में सुपर-हाइड्रेटिंग गुण होते हैं, जिसके कारण ये त्वचा को लंबे समय तक हाइड्रेट रखता है।

ऑलिव ऑयल

बादाम के तेल की ही तरह जैतून का तेल जिसको ऑलिव ऑयल के नाम से जानते हैं, ये काले पोरों को साफ करने में मददगार होता है। कई बार बादाम का तेल घरों में नहीं होता है। ऐसे में आप ऑलिव ऑयल का इस्तेमाल कर सकते हैं। ऑलिव ऑयल का प्रयोग भी उसी तरह करना है, यानी 2-3 बूंद तेलों को हर उंगली में लगाकर मसाज करते रहें। अगर आप ऐसा रोजाना करेंगे, तो आपको कुछ दिनों में ही परिणाम दिखने लगेंगे और त्वचा का कालापान हल्का होने लगेगा।

loading...
Loading...

You may also like

होली के लिए अभी से तैयार कर लें गानों की ये प्ले लिस्ट

🔊 Listen This News होली का त्योहार आने